दैनिक भास्कर हिंदी: देवास: अन्तर्राज्यीय ए.टी.एम. डकैती गिरोह का पर्दाफाश,एक दर्जन से अधिक वारदाते कबूली

January 23rd, 2021

डिजिटल डेस्क, देवास। देवास पुलिस अधीक्षक डॉ. शिवदयाल सिंह ने प्रेस वार्ता में बताया कि देवास के आवास नगर में स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम को 19 व 20 जनवरी की दरम्यानी रात को देवास शहर में बीएनपी थानान्तर्गत आवास नगर एबी रोड स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम को बदमाशों ने निशाना बनाया था। उक्त घटना को गंभीरतापूर्वक लेते हुए पुलिस अधीक्षक देवास द्वारा तत्काल 04 टीमे बनाई गई एवं उक्त टीमो को अलग अलग दिशाओं में भेजा गया टीम के द्वारा घेराबंदी कर उक्त आरोपियों को ग्वालियर से पकडा गया। बदमाशों ने पूछताछ में आवास नगर देवास स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम को गैस कटर से काटने की घटना कारित करना स्वीकार किया।

बदमाशों से औरेंज मिन्ट रंग की ब्रेजा कार, घटना में प्रयुक्त उपकरण, पानें-पिंचिस तथा कैमरों पर स्प्रे करने की बोतल, मोबाईल तथा नगद राशि जप्त की गई। मौका पाकर बदमाशों नें एटीएम बूथ में प्रवेश कर उसमें साथ लाये गैस कटर से काटने से पूर्व बूथ में लगे कैमरों पर कालिख स्प्रे कर दी तथा एटीएम को काटना शुरू किया। अन्तरप्रान्तीय गिरोह है जिन्होनें देश के विभिन्न हिस्सों में वारदातें की है। जानकारी सभी जिला पुलिस अधीक्षकों, एसटीएफ को भेजी गई है। तरीका वारदात गैस कटर एवं सिलेण्डर के माध्यम से सुने एटीम को निशाना बनाकर गैस कटर के माध्यम से काटकर उसमें पैसे लेकर फरार हो जाते हैं । जप्तशुदा सामग्री औरेंज मिन्ट रंग की ब्रेजा कार, पानें-पिंचिस स्प्रे की बोतल, मोबाईल कीमत लगभग 10 लाख रूपये की जप्त की गई है । ये आरोपी हैं गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम नासिर पिता तैयब हुसैन मेवाती उम्र 26 साल निवासी हसीन नूहू हरियाणा हाल मुकाम जुलवानिया जिला बड़वानी, खूबी खान पिता नासिर खान उम्र 19 साल निवासी शिकारपुर जिला नूहू मेवात, राशिद खान पिता जफरुद्दीन 19 वर्ष, अजरू पिता आमीन और साजिद खान पिता रईस खान उम्र 24 साल सभी निवासी शिकारपुर जिला नूह हरियाणा बताए गए हैं।

पुलिस आरोपियों से और पूछताछ कर रही है पुलिस को और भी वारदातों का खुलासा होने की उम्मीद है। पुलिस की इस कार्रवाई में सीएसपी विवेक सिंह चौहान, डीएसपी हेडक्वार्टर किरण शर्मा के मार्गदर्शन में बीएनपी थाना प्रभारी मुकेश इज़ारदार, सब इंस्पेक्टर बीएन सिंह, पूजा सोलंकी, अरुण पीपल्दे, अजय साहनी, राकेश सिंह, प्रधान आरक्षक मनोज पटेल, देवेंद्र सिंह, राम प्रताप सिंह, शिव वसुनिया, साइबर सेल के शिव प्रताप सिंह सेंगर, आरक्षक आलोक सिंह, भगवान सिंह और सैनिक भगवान सिंह की सराहनीय भूमिका रही।