comScore

अवैध थी विद्युत लाइन ,ग्रामीण की हुई थी मौत - खेत मालिकों के खिलाफ मामला दर्ज 

अवैध थी विद्युत लाइन ,ग्रामीण की हुई थी मौत - खेत मालिकों के खिलाफ मामला दर्ज 

डिजिटल डेस्क जबलपुर । खितौला थाना क्षेत्र के ग्राम निगवानी निवासी 42 वर्षीय ग्रामीण की संदिग्ध अवस्था में मौत होने के मामले की जाँच में मौत करंट लगने से होना उजागर हुआ है। जाँच के दौरान पता चला कि दो खेत मालिकों द्वारा बिछाई गयी बिजली की तार कटी-फटी हुई थी जिसमें फँसकर ग्रामीण की मौत हुई है। जाँच में मौत का कारण उजागर होने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जाँच में लिया है। 
तार में फंसकर गई थी जान
सूत्रों के अनुसार ग्राम निगवानी निवासी दशरथ पटेल ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसका छोटा भाई सज्जन उर्फ साजन पटैल उम्र 42 वर्ष 25 सितम्बर की शाम घर से निकला था जो कि वापस नहीं लौटा था। अगले दिन साजन की पत्नी ने उनकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। 27 सितम्बर को साजन की लाश गढ़चपा वाले खेत में पड़ी हुई मिली थी। उसके दायीं आँख से खून निकल रहा था और बायें हाथ के अँगूठे व अँगुलियों में जले का निशान था। सूचना पर मर्ग कायम कर पुलिस ने मामले को जाँच में लिया था। जाँच के दौरान मृतक के परिजनों के कथन लिए गये जिसमें पाया गया कि  गोपाल पटेल के खेत के पास लगी डीपी में विद्युत प्रवाह होने से धर्मेन्द्र पटैल व कल्लू दुबे ने डीपी से अवैध रूप से तार खींचकर अपने खेत ले जाया गया था। उसी में फँसकर साजन की मौत हुई है।  घटना के बाद धर्मेन्द्र व कल्लू ने तारों को छिपा दिया था। जाँच में लापरवाही उजागर होने पर खेत मालिकों के खिलाफ धारा 304ए, 201 के तहत मामला दर्ज किया गया है। िबजली विभाग ने ऐसे बिजली चोरों पर शिकंजा कसने के लिए अभियान चलाया है, जो कि विद्युत मंडल को चूना लगा रहे हैं।         
 

कमेंट करें
exThP