comScore

लॉकडाउन में फँसे कर्नाटक के परिवार को पहुँचाया घर

लॉकडाउन में फँसे कर्नाटक के परिवार को पहुँचाया घर

डिजिटल डेस्क जबलपुर । लॉकडाउन के दौरान जहाँ मजदूरों को अपने घर वापसी हेतु लंबी जद््दोजहद करनी पड़ी है वहीं प्रशासन के सहयोग से 12 वर्षीय माया अपनी माँ तथा बहनों के साथ शुक्रवार को अपने घर ग्राम गुन्दवान जिला बीजापुर कर्नाटक के लिये ट्रेन से रवाना हुई।  2 अप्रैल को पनागर में लॉकडाउन का पालन कराने भ्रमण करते हुये तहसीलदार प्रमोद चतुर्वेदी को माया अपनी माँ एवं बहनों के साथ खुले आसमान के नीचे बैठे हुई मिली थी। पूछने पर माया ने बताया कि उसकी माँ और मौसी के साथ वे सभी मजदूरी करने कर्नाटक से यहाँ आई हैं। उनके घर के पुरुष सदस्य लॉकडाउन के कारण नहीं आ पाये हैं और यहाँ उनके रहने-खाने की कोई व्यवस्था नहीं है। तहसीलदार द्वारा तत्काल उनके रहने एवं भोजन की व्यवस्था शासकीय छात्रावास पनागर में करवाई गई। विगत 63 दिनों से वे सभी इसी छात्रावास में रह रहे थे। लेकिन पिछले कई दिनों से माया अपने घर वापस जाना चाहती थी। तहसीलदार द्वारा बच्ची की वापस घर जाने की चाहत को देखते हुये परिवार के सभी 5 सदस्यों का यात्री ट्रेन में रिजर्वेशन कराया गया तथा आगे की यात्रा के लिये स्वयं आर्थिक सहयोग देकर ट्रेन से शुक्रवार को विदा किया गया।
 

कमेंट करें
yxf6N