comScore

जबलपुर से रायपुर के बीच चलेगी इंटरसिटी - डेमो ट्रेन चलाने दिया जा रहा प्रशिक्षण

जबलपुर से रायपुर के बीच चलेगी इंटरसिटी - डेमो ट्रेन चलाने दिया जा रहा प्रशिक्षण

डीआरएम ने कहा - रेलवे में निरंतर बढ़ रहीं यात्री सुविधाएँ व आधुनिकतम तकनीकी, सभी को मिलेगा लाभ 
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
रेल मंडल द्वारा यात्रियों की सुविधाओं से संबंधित सभी कार्य शानदार ढंग से किए जा रहे हैं। जिसके कारण रेलवे की सभी आधुनिकतम तकनीकी व यात्री सुविधाएँ निरंतर बढ़ रही हैं। मंडल में साफ-सफाई, कोविड-19 से बचाव, जबलपुर स्टेशन को नया लुक देने का कार्य, रेलवे सर्कुलेटिंग क्षेत्र में विकास, पर्यावरण, विद्युत बचत, नवाचार, यात्री आय व माल भाड़ा आय में वृद्धि और कर्मचारी हित में अनेक कार्य किए जा रहे हैं। उक्त जानकारी मंगलवार को मंडल रेल प्रबंधक संजय विश्वास ने पत्रकारों से चर्चा में दी। इस अवसर पर श्री विश्वास ने मंडल के कार्यों की उपलब्धियों को वीडियो स्लाइड द्वारा प्रस्तुत किया।
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जबलपुर से बालाघाट होते हुए गोंदिया बॉडग्रेज लाइन शुरू होने के बाद जबलपुर से रायपुर के बीच इंटरसिटी चलाने विचार किया जा रहा है, मगर यह निर्णय पश्चिम मध्य रेलवे व बिलासपुर रेल जोन की सहमति से होगा जिस पर रेलवे बोर्ड ही निर्णय लेगा। पत्रकारवार्ता में अपर मंडल रेल प्रबंधक दीपक कुमार गुप्ता, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विश्व रंजन, संजय यादव, संजय मनेरिया, विजय पांडे, एचपी सिंह, सुनील श्रीवास्तव सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे।
पत्रकारों से चर्चा करते हुए श्री विश्वास ने बताया कि प्लेटफार्म और ट्रेनों में बढ़ती अवैध वेंडरों को रोकने और उनकी पहचान के लिए वैध वेंडरों को क्यूआर कोड वाले आई कार्ड जारी किए गए हैं, जिसके सहारे उक्त वेंडर से संबंधित पूरी जानकारी हासिल हो सकती है। उन्होंने कहा कि सुविधाओं को और बेहतर बनाने के लिए सुझाव भी माँगे जा रहे हैं। आने वाले समय में इन पर अमल भी किया जाएगा। 
डेमो ट्रेन चलाने दिया जा रहा प्रशिक्षण
डीआरएम श्री विश्वास ने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए जल्द ही डेमो ट्रेन चलाई जाएगी। इसकी तैयारियाँ भी हो रही हैं। इसके लिए चालकों को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जबलपुर-इटारसी, कटनी-बीना रेल रूट पर पहले चरण में डेमो ट्रेन चल सकती हैं। डीआरएम ने बताया कि इन दिनों पैसेंजरों की संख्या 100 प्रतिशत न होने के कारण माल भाड़े में ज्यादा फोकस किया जा रहा है। इसमें लगातार वृद्धि भी हो रही है। इसके अलावा कमर्शियल विभाग भी लगातार अच्छा प्रयास कर रहा है। टिकट चैकिंग के माध्यम से जनवरी माह से 4.61 करोड़ रुपए का राजस्व मिला है। उन्होंने बताया कि मालगोदाम में अवैध चाय की दुकानों को वैध कर सलाना 5 लाख रुपए की राजस्व प्राप्ति हो रही है।
 

कमेंट करें
nE9Nz