comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मंहगी टिकिट और ज्यादा समय लगने से बंद हो गई जबलपुर खजुराहो सुपरफास्ट 

मंहगी टिकिट और ज्यादा समय लगने से बंद हो गई जबलपुर खजुराहो सुपरफास्ट 

डिजिटल डेस्क जबलपुर । देश के प्रसिद्ध दो पर्यटन स्थलों खजुराहो और जबलपुर के बीच बीते वर्ष दिसम्बर में शुरू की गई जबलपुर-खजुराहो -साप्ताहिक सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन आखिरकार बंद हो गई। रेल प्रशासन ने जबलपुर से 19 दिसम्बर से 16 जनवरी तक जबलपुर-खजुराहो सुपरफास्ट एक्सप्रेस को और वापसी में खजुराहो-जबलपुर एक्सप्रेस को 20 दिसम्बर से 17 जनवरी तक चलाने की योजना यह सोचकर बनाई थी कि ट्रेन को यात्रियों का भरपूर समर्थन मिलने के बाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस को एक्सटेंशन देकर आगे जारी रखेंगे, लेकिन जबलपुर-खजुराहो सुपरफास्ट एक्सप्रेस कब शुरू हुई और कब बंद हो गई, यात्रियों को पता ही नहीं चला। रेलवे से जुड़े यात्रियों का कहना है िक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिहाज से शुरू की गई जबलपुर-खजुराहो सुपरफास्ट एक्सप्रेस का प्रचार-प्रसार इतना कमजोर रहा कि खजुराहो जाकर पर्यटन स्थल घूमने वाले पर्यटकों और प्रकृति प्रेमियों को स्पेशल ट्रेन की सही जानकारी ही नहीं मिल सकी, जिसकी वजह से जबलपुर-खजुराहो एक्सप्रेस को उतना समर्थन नहीं मिल पाया, जितना मिलना चाहिए था। सबसे खास बात यह है  कि दमोह, कटनी और सागर जाने वाले यात्रियों ने भी जबलपुर-खजुराहो ट्रेन के किराए और टाइम को पसंद नहीं किया। अगर किराया और यात्रा का समय कम होता तो स्पेशल ट्रेन को लोकल ट्रैफिक मिलने की उम्मीद बँध सकती थी, जो जबलपुर-खजुराहो एक्सप्रेस को लगातार चलाने के लिए संजीवनी का काम कर सकता था, लेकिन ऐसा न हो पाने से रेलवे की योजना फेल हो गई। 
महँगा किराया, ज्यादा समय लगने से यात्री नहीं आए 
रेलवे से जुड़े सूत्रों का कहना है िक जबलपुर-खजुराहो सुपरफास्ट एक्सप्रेस के बंद होने का सबसे बड़ा कारण ट्रेन को स्पेशल ट्रेन के रूप में चलाने का है, जिसकी वजह से ट्रेन का किराया इतना ज्यादा रखा गया कि यात्रियों की जेबों पर किराया भारी पडऩे लगा। वहीं दूसरा कारण खजुराहो तक पहुँचने में लगने वाला ज्यादा समय है, जो यात्रियों को टाइम वेस्ट लगा। यात्रियों का कहना है िक सड़क मार्ग से जबलपुर से एसी बस के जरिए खजुराहो 5 घंटे में 300 रुपए किराया देकर आसानी से पहुँचा जा सकता है, जबकि स्पेशल ट्रेन का किराया हजारों में है और जबलपुर से खजुराहो पहुुँचने में 10 घंटे का समय लग रहा है, जिससे यात्रियों का दोहरा नुकसान है, इसलिए यात्रियों ने ज्यादा किराया और ज्यादा समय लगने की समस्या को देखते हुए जबलपुर-खजुराहो सुपरफास्ट एक्सप्रेस को नकार दिया, जिसके कारण रेल प्रशासन को यात्रियों की कमी को देखते हुए स्पेशल ट्रेन को बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा। 
ट्रेन को बंद करने का निर्णय कहीं जल्दबाजी में तो नहीं लिया गया 
जानकारों का कहना है कि रेल प्रशासन ने नए साल के पहले जबलपुर-खजुराहो एक्सप्रेस को चलाने का निर्णय यह सोच कर लिया था कि सर्दियों की छुट्टियों में पर्यटक दोनों पर्यटन स्थलों को निहारने के लिए आएँगे, लेकिन सर्दी के मौसम में यात्रियों की संख्या कम होने के कारण रेल प्रशासन की योजना फेल हो गई, ऐसे में स्पेशल ट्रेन को जल्दबाजी में बंद करने का निर्णय लिया गया है। यात्रियों का कहना है  कि अगर दो-तीन महीने जबलपुर-खजुराहो स्पेशल को चलाया जाता तो मार्च के बाद गर्मियों की छुट्टियों में ट्रेन को यात्रियों का भरपूर समर्थन मिलने की उम्मीद थी। यात्री खजुराहो जाने को इच्छुक थे, उन्हें सही समय आने का इंतजार था, लेकिन उसके पहले ही जल्दबाजी में रेल प्रशासन ने जबलपुर-खजुराहो सुपरफास्ट एक्सप्रेस को बंद कर दिया।  

कमेंट करें
EDq07
कमेंट पढ़े
Kamlesh kushwaha January 27th, 2020 22:19 IST

Trein ka taiming sahi nahi tha nahi logo ko trein ke bare me jankari di

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।