• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Many times in childhood, Jabalpur, sage who came to his maternal grandfather, wanted to celebrate the holiday

दैनिक भास्कर हिंदी: बचपन में कई बार जबलपुर अपने ननिहाल आए ऋषि,  आकर हॉलीडे मनाने की इच्छा थी

May 1st, 2020

डिजिटल डेस्क जबलपुर ।  ऋषि कपूर ने लगभग 5 दशक तक बड़े परदे पर अपनी अदाकारी से लाखों लोगों को मुरीद बनाया। आपको बता दें कि दिग्गज अभिनेता का संस्कारधानी से गहरा संबंध रहा है। उनकी माँ स्व. कृष्णा राज कपूर शहर से ही थीं,  इस नाते जबलपुर उनका ननिहाल हुआ। स्व. कृष्णा राज कपूर, दिग्गज अभिनेता प्रेम नाथ की बहन थीं। ऋषि बचपन में अपनी माँ के साथ कई बार जबलपुर आए। स्व. प्रेमनाथ के बेटे कैलाश नाथ मोंटी ने सिटी भास्कर से विशेष बातचीत में कहा कि जबलपुर से जुड़ी उनकी बहुत सी यादें हैं। वो मुझसे अक्सर कहते थे कि हॉलीडे पर जबलपुर चलना है। एम्पायर थियेटर शुरू करने को लेकर भी उन्होंने बात की थी। 
क्रिकेट मैच के लिए भी आए 7दूरभाष पर बात करते हुए कैलाशनाथ मोंटी ने कहा कि बचपन में ऋषि और रणधीर, कृष्णा आंटी के साथ अक्सर जबलपुर आते थे। उन्हें यहाँ की एक कैंटीन में मटन चॉप्स खाने का बहुत शौक था। इसके अलावा एक बार एक क्रिकेट मैच के लिए भी जबलपुर आए थे। बचपन तो बचपन, बड़े होने के बाद भी उनका लगाव जबलपुर से रहा है। 
चलो जबलपुर चलते हैं, हॉलीडे मनाते हैं
 मोंटी कहते हैं कि जिलहरी घाट स्थित पापा (स्व. प्रेमनाथ) की समाधि पर लाइट एंड साउंड शो और एम्पायर थियेटर फिर से शुरू करने की तैयारी जो हम कर रहे हैं, उसके उद््घाटन के लिए वे जबलपुर आने वाले थे। हमारी प्लानिंग को लेकर ऋषि हमसे अक्सर कहा करते थे कि जल्दी शुरू करो यार, चलो जबलपुर चलते हैं, हॉलीडे मनाते हैं। कैलाशनाथ मोंटी ने ऋषि से जुड़ी तस्वीरें भी साझा कीं। 
जबलपुर और कपूर परिवार 
कपूर परिवार को फिल्म इंडस्ट्री की फस्र्ट फैमिली कहा जाता है। पृथ्वीराज कपूर से लेकर रणबीर कपूर तक .. इस फैमिली की सभी जनरेशन्स में एक से बढ़कर एक अभिनेता और अभिनेत्रियाँ हुए हैं। पृथ्वीराज कपूर के बेटे राज कपूर का विवाह राय करतारनाथ की बेटी कृष्णा से हुआ था। कृष्णा, प्रेमनाथ, राजेंद्रनाथ, नरेंद्रनाथ  की बहन थीं। वहीं, कृष्णा की एक और बहन उमा की शादी बॉलीवुड के मशहूर एक्टर प्रेम चोपड़ा के साथ हुई। राय करतार नाथ के निधन के बाद प्रेमनाथ मुंबई शिफ्ट हो गए थे। एम्पयार टॉकीज अभिनेता प्रेमनाथ की निशानी है। उनका बंगला टॉकीज से लगा हुआ है। ऋषि, राजकपूर और कृष्णाराज कपूर के दूसरे बेटे थे।  फिल्मों के जानकार पंकज स्वामी ने बताया कि कपूर फैमिली का शहर से गहरा रिलेशन है।  हास्य कलाकार राजेश मिश्रा कहते हैं कि राजकपूर फिल्मों की शूटिंग में हमेशा संस्कारधानी को प्राथमिकता देते थे, बॉबी फिल्म में भी भेड़ाघाट के दृश्य का ध्यान रखा गया।
इस तरह किया याद 
सोशल मीडिया में स्व. ऋषि कपूर को याद करते हुए मैसेजेस और पोस्ट शेयर की गईं। पहले इरफान खान और अब ऋषि कपूर के निधन के बाद, ज्यादतर लोगों ने उनकी तस्वीरें स्टेट और स्टोरीज में शेयर कीं। फिल्म डी डे में दोनों अभिनेता साथ नजर आए थे, उसके जुड़ी तस्वीर भी साझा हुईं। 
शहर के कलाकारों ने किया याद 
बॉलीवुड के सुपरहीरो ऋषि कूपर और इरफान खान को शहर के कलाकारों ने याद किया। कलाकारों गणेश स्वरूप बिरहा, राजेश पिल्ले, बबलू मैथ्यू, निमेश श्रीवास्तव, राकेश गुप्ता, अनिल श्रीवास्तव, जुगल किशोर, दीपक मोगेरिया व आत्मानंद श्रीवास्तव ने सोशल मीडिया के जरिए भावनाएँ व्यक्त कीं।