दैनिक भास्कर हिंदी: मेरठ: अस्पताल ने दिया विज्ञापन- मुस्लिम कोरोना टेस्ट कराकर आए, तभी होगा इलाज, विवाद बढ़ने पर मांगी माफी

April 20th, 2020

हाईलाइट

  • मेरठ के अस्पताल ने दिया विज्ञापन
  • कोरोना रिपोर्ट निगेटिव हो तभी आएं मुस्लिम
  • अस्पताल ने विज्ञापन पर मांगी माफी

डिजिटल डेस्क, मेरठ। उत्तरप्रदेश के मेरठ (Meerut) में वैलेंटिस कैंसर अस्पताल (Valentis Cancer Hospital) ने अखबार में दिए विज्ञापन को लेकर विवाद हो गया है। मामले के तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने हॉस्पिटल संचालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। वहीं अस्पताल ने विज्ञापन पर माफी मांगी है। इस विज्ञापन में कहा गया था कि मुस्लिम मरीज और उनके केयर टेकर पहले कोविड-19 (COVID-19) का टेस्ट कराएं। अगर उनका टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आया तभी उनका इलाज किया जाएगा।

मामले पर सफाई देते हुए डॉ अमित जैन ने कहा कि विज्ञापन में सभी लोगों से अपील थी कि वे सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करें, ताकि सभी लोग सुरक्षित रहें। इसका धर्म से कोई लेना-देना नहीं है। हम माफी मांगते हैं क्योंकि कुछ शब्द से लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची हैं। हमारा कभी किसी की भावनाओं को आहत पहुंचाने का इरादा नहीं था। 

रामपुर में युवक को गुंडों ने जबरदस्ती पिलाया सैनिटाइजर, मौत

वहीं इस मामले पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। मेरठ एसएसपी अजय कुमार साहनी ने कहा कि हमने मामला दर्ज कर लिया है। हम उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर कार्रवाई कर रहे हैं।