comScore

देवास: पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों तक समय पर पहुँचे पिछड़ा वर्ग राज्य मंत्री श्री पटेल ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से की समीक्षा

July 25th, 2020 15:11 IST
देवास: पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों तक समय पर पहुँचे पिछड़ा वर्ग राज्य मंत्री श्री पटेल ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से की समीक्षा

डिजिटल डेस्क, देवास। देवास पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री राम खेलावन पटेल ने अधिकारियों से कहा है कि राज्य सरकार द्वारा संचालित पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण योजनाओं का लाभ इन वर्गों के जरूरतमंदों तक समय पर पहुँचना सुनिश्चित किया जाना चाहिए। उन्होंने इन वर्गों के विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति की राशि का शत-प्रतिशत वितरण किये जाने के लिये भी कहा। राज्य मंत्री श्री पटेल शुक्रवार को मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। बैठक में सचिव एवं आयुक्त पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण श्री रमेश थेटे भी मौजूद थे। राज्य मंत्री श्री पटेल ने कहा कि पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग के विद्यार्थियों के लिये संचालित छात्रावासों में स्वीकृत सीटों में शत-प्रतिशत प्रवेश दिया जाये। बैठक में विभाग द्वारा संचालित स्व-रोजगार योजना की भी समीक्षा की गई। उन्होंने कहा कि इन वर्गों के युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर मिल सकें, इसके लिये विभागीय बजट में भी वृद्धि की जायेगी। बैठक में बताया गया कि पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति में आवंटित राशि स्कूल शिक्षा विभाग को वितरण के लिये जारी कर दी गई है। विभाग द्वारा पिछड़ा वर्ग के मेधावी विद्यार्थियों को कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में सर्वाधिक अंक लेने वाले प्रत्येक जिले के एक-एक छात्र-छात्राओं को पुरस्कार दिये जा रहे हैं। बैठक में बताया गया कि केन्द्र प्रवर्तित योजना में 51 जिलों में पिछड़े वर्ग की अध्ययनरत कन्याओं को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिये 50 सीटर पोस्ट-मेट्रिक कन्या छात्रावासों की स्थापना की गई है। संभागीय मुख्यालय, इंदौर में 500 सीटर पोस्ट-मेट्रिक कन्या छात्रावास भवन का निर्माण हाल ही में पूरा किया गया है। संभागीय मुख्यालय, जबलपुर में 500 सीटर पोस्ट-मेट्रिक कन्या छात्रावास का निर्माण कार्य प्रगति पर है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अल्पसंख्यक वर्ग के विद्यार्थियों के लिये संचालित मेरिट-कम-मीन्स योजना की भी समीक्षा की गई। अल्पसंख्यक वर्ग के शिक्षित बेरोजगार युवक-युवतियों की रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण योजना के संबंध में बताया गया कि इस योजना में 1400 प्रशिक्षणार्थियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम पूर्ण किया गया है।

कमेंट करें
4SLvW