comScore

नगर निगम नहीं सीख पाया वर्क कल्चर !निर्माण कार्य जनता के लिए बन जाते हैं परेशानी

नगर निगम नहीं सीख पाया वर्क कल्चर !निर्माण कार्य जनता के लिए बन जाते हैं परेशानी

डिजिटल डेस्क जबलपुर।शहर में एक भी कोई बड़ा हो या फिर छोटा निर्माण जनता को परेशान किये बिना पूरा नहीं होता है। नगर निगम जबलपुर ने वर्षों से अपने वर्क कल्चर में सुधार नहीं किया, जिसका नतीजा है कि कोई छोटा सा नाली निर्माण हो या फिर 5 से 7 किलोमीटर की कोई सड़क, दोनों के काम इस अंदाज में किये जाते हैं कि  वहाँ से निकलने के दौरान आम आदमी बस तकलीफें ही झेलता रहता है। अन्य शहरों में जब वर्ककल्चर बदल रहा है, रात के समय काम आरंभ कर दिये गये हैं,  दिन में ट्रैफिक का दबाव, आम अदमी की तकलीफों पर गौर और अन्य सुविधाओं का ध्यान रखा जाता है, लेकिन यहाँ पर इस तरह सोचा ही नहीं जाता है। रात में सड़कें बनाने की शुरूआत तो हो ही नहीं पा रही है। जिन वार्डों में रात में सफाई होती है, वहाँ समझा जा सकता है कि सुबह शहर  कितना स्वच्छ लगता है, लोगों को कोई परेशानी हुये बगैर काम पूरा हो जाता है, यही सोच अन्य कामों में लागू हो तो कुछ राहत मिल भी सकती है। शहर में चारों ओर अनेकों ऐसे निर्माण कार्य चल रहे हैं जो जनता को सिर्फ और सिर्फ बेढँगे वर्ककल्चर की वजह से मुसीबतें  हैं। 
चेम्बर तलाशने खोदा और भाग गए - 
गेट नंबर 4 से स्टेडियम की ओर पहले जब सीवर लाइन डाली तो चेम्बर ऊपर नहीं रखे गये। कुछ सालों बाद सीवर लाइन की याद आई और चेम्बर जहाँ पर बनाये गये वह जगह तलाशने अब अच्छी खासी सड़क को नगर निगम ने खोदा और उसके बाद फिर भाग खड़े हुये। अब जहाँ पर खोदा गया है, सड़क के उस हिस्से में लोग गिरकर घायल हो रहे हैं। नगर निगम के काम करने के तरीके पर भी जनता सवाल उठा रही है कि आखिर एक चेम्बर तलाशने कितने मूर्खतापूर्ण तरीके से सड़क को खोदा और फिर उसकी सुध तक नहीं ली।
 बिना सूचना के सड़क बंद कर दी- 
प्रेम मंदिर के सामने से स्टेडियम की ओर जाने वाली सड़क पर अचानक सड़क खोदने वाली बड़ी मशीनें आती हैं और काम शुरू कर दिया जाता है। एक घण्टे के अंदर अच्छा खासा गड्ढा बना दिया जाता है और कोई सूचना बगैर ट्रैफिक को डायवर्ट कर दिया जाता है। सीवर लाइन जनता को लंबे अर्से से तकलीफें बाँट रही है। एक बार फिर से मध्य  क्षेत्र में जनता को हलाकान करना आरंभ कर दिया है। खास बात यही है कि पूर्व के निर्माण में हुई परेशानियों से हम कुछ भी नहीं सीख पाये। 
डम्पर ही घुस गया नाली में - 
स्टेट बैंक विजय नगर चौराहे के नजदीक दोनों हिस्सों में सड़क के किनारे नालियों का निर्माण किया जा रहा है। काम इस अंदाज में हो रहा है कि महीनों से जनता को यहाँ की सड़कों से निकलने के दौरान परेशानी हो रही है। धूल, गड्ढों से तकलीफों के अलावा कुछ नहीं, बची कसर काम का तरीका पूरा कर देता है। जहाँ नाली बन रही है, वहाँ नुकीली सरिया बाहर निकली है जो लोगों को घायल कर रही है। दो दिन पहले तो एक ट्रक ही इसमें घुस गया जिसको बड़ी मशक्कत के बाद निकाला जा सका है।

कमेंट करें
4qgW3