comScore

 शहीद साथियों के लिए पुलिस परिवार ने जुटाए 6.40 लाख रुपए 

September 19th, 2020 18:54 IST
 शहीद साथियों के लिए पुलिस परिवार ने जुटाए 6.40 लाख रुपए 

 डिजिटल डेस्क सतना। अपने सेवाकाल के शुरुआत में ही जान गवाने वाले दो साथियों के परिवारों की मदद के लिए सतना पुलिस परिवार ने अनूठी पहल करते हुए 6 लाख 40 हजार रुपए एकत्र कर प्रदान किए हैं। जुटाई गई रकम के चेक शुक्रवार दोपहर को पुलिस कप्तान रियाज इकबाल ने उपनिरीक्षक अंकित सिंह ठगेले के पिता चिंतालाल ठगेले और आरक्षक प्रबल प्रताप सिंह के पिता रमेश सिंह को सौंपे। इस मौके पर एडिशनल एसपी गौतम सोलंकी और रक्षित निरीक्षक सत्यप्रकाश मिश्रा मौजूद रहे। गौरतलब है कि एसआई अंकित 2018 में पुलिस में भर्ती हुए थे। उनकी तैनाती मैहर थाने में थी,जहां 18 अगस्त की रात को पेट्रोलिंग से लौटते समय तेज रफ्तार वाहन की ठोकर लगने से उनकी जान चली गई थी। वे अपने परिवार में कमाने वाले एकलौते सदस्य थे। अंकित के पिता रिटायर्ड हो चुके हैं तो परिवार में मां के साथ तीन बहनें भी हैं। वहीं आरक्षक प्रबल प्रताप सिंह इसी साल 15 जून को ड्यूटी के दौरान कैरोसिन माफिया पर कार्रवाई के दौरान शहीद हो गए थे। उनके परिवार में माता-पिता और दो छोटी बहनें हैं। प्रबल के पिता ने पुलिस कप्तान के प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि बेटे के हत्यारों को जेल भेजने के बाद भी पुलिस परिवार ने उनका साथ नहीं छोड़ा और सत्त संपर्क में रहकर आर्थिक मदद देकर हिम्मत बढ़ाई। 
पुलिस कप्तान ने नई बीमा योजना का भेजा प्रस्ताव
पुलिस कप्तान रियाज इकबाल ने बताया कि आईपीएस से लेकर आरक्षक तक सेवाकाल कम रहने के दौरान कोई घटना होने पर समझौता राशि बहुत कम मिलती है। जबकि अक्सर यह देखा जाता है कि जान गवाने वाला व्यक्ति अपने परिवार के लिए एक मात्र कमाने वाला इंसान होता है। ऐसे में बहुत सारी दिक्कतें सामने आ जाती है। इन परिस्थितियों को देखते हुए नई ज्वाइंट लार्ज इंश्योरेंस स्कीम का प्रस्ताव तैयार कर पीएचक्यू भेजा गया है। जिसमें प्रत्येक पुलिस कर्मी के वेतन से प्रतिमाह 100 रुपए कटौती कर बीमा योजना में जमा करने की बात कही गई है। यह कदम उठाने से पुलिस स्टाफ के घायल व मृत होने पर उसके परिवार को बड़ी रकम प्राप्त होगी। एसपी ने डीजीपी के साथ ही एडीजी प्रशासन और एडीजी एन्टेलीजेंस को भी प्रस्ताव भेजा है,जिन्होंने इस पर सहमति जताई है।
 

कमेंट करें
sxq4u