comScore

मरीजों की सेवा को दी प्राथमिकता - टाल दी अपनी शादी , जिला चिकित्सालय की 4 स्टाफ नर्सेस का सराहनीय कदम

मरीजों की सेवा को दी प्राथमिकता - टाल दी अपनी शादी , जिला चिकित्सालय की 4 स्टाफ नर्सेस का सराहनीय कदम

 डिजिटल डेस्क अनूपपुर । इस समय कोविड हॉस्पिटल में मरीजों के लिए जगह नहीं है। वहीं चिकित्सक एवं स्टाफ  नर्सों की कमी भी बनी हुई है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला चिकित्सालय अनूपपुर में कार्यरत चार नर्सों ने मरीजों की सेवा और अपने फर्ज को देखते हुए अपनी शादी की तारीख आगे बढ़ा दी है। इनमें से दो स्टाफ  नर्स की शादी तो 2 मई को होनी थी, लेकिन उन्होंने शादी के फेरों से ज्यादा महत्व अपने फर्ज को देते हुए शादी टाल दी है। दोनों 2 मई को हॉस्पिटल में ड्यूटी पर थी। 
25, 26 को होनी थी शादी
जिला चिकित्सालय के प्रसव कक्ष में तैनात सीमा भोयर एवं चांदनी सैयाम का विवाह 25 एवं 26 अप्रैल को होना था। जिला चिकित्सालय में सिजेरियन ऑपरेशन नहीं हो पा रहे हैं। वजह एनेस्थीसिया के डॉक्टर अवकाश पर है। गर्भवती महिलाओं की सेवा और वार्ड में स्टाफ नर्स की कमी को देखते हुए इन दोनों ने शादी की तारीख आगे बढ़ा दी। सारी तैयारियों के बावजूद दोनों ने फर्ज को ज्यादा महत्व दिया। फिलहाल शादी की नई तारीख तय नहीं हो पाई है। 
परिजनों ने भी दिया पूरा साथ, अभी तय नहीं आगे की तिथि
जिला चिकित्सालय के ट्रामा सेंटर में बनाए गए कोविड वार्ड में नाइट ड्यूटी कर रही राधिका ठाकरे तथा इमरजेंसी कक्ष में ड्यूटी कर रही सुश्री राजनंदिनी सिंह की शादी 2 मई को होनी थी। इन दोनों के साथ भी वही दिक्कत थी। स्टाफ  की कमी और लगातार बढ़ते मरीजों को देखते हुए इन दोनों ने भी अपनी शादी की तारीख आगे बढ़वा दी। चारों की कहानी भले ही अलग-अलग हो फर्ज के लिए फैसला एक था। परिजनों ने भी उनके इस फैसले का स्वागत किया है और स्थिति सामान्य होने पर शादी की बात कही जा रही है।

कमेंट करें
OsfLa