दैनिक भास्कर हिंदी: लार्जेस स्कीम के तहत रेलकर्मियों के बच्चों की होगी भर्ती, रेल मंत्रालय ने निर्देश जारी किए

July 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। लार्जेस स्कीम के तहत रेलकर्मचारियों के बच्चों को रेलवे में नौकरी करने का मौका मिलने जा रहा है, जिसके पीछे एनएफआईआर-वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ का लंबे समय तक चला संघर्ष रंग लाया है। डब्ल्यूसीआरएमएस के महामंत्री अशोक शर्मा ने बताया कि एनएफआईआर-डब्ल्यूसीआरएमएस की पहल पर रेल मंत्रालय और बोर्ड ने सभी रेल जोन को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। जिसमें कहा गया है कि अब उन बच्चों को लार्जेस स्कीम के तहत भर्ती किया जाएगा जिनका 27 अक्टूबर 2017 के पहले मेडिकल और कार्मिक विभाग की सभी प्रक्रिया हुई हो। श्री शर्मा ने बताया कि इस मामले को लेकर पमरे के जीएम अजय विजयवर्गीय से मुलाकात कर पत्र सौंपा गया था,इसके बाद जीएम ने सीपीओ को निर्देशित कर संघ की मांग को पूरा करने का आश्वासन दिया है। संघ ने सीपीओ मंगुराम गोयल से भेंट कर आगे कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने बताया कि रेलवे में लार्जेस स्कीम के तहत रेलकर्मियों के बच्चों को नौकरी देने वाले प्रावधान पर सुप्रीम कोर्ट ने 27 अक्टूबर 2017 से रोक लगा रखी है। इस तारीख के पहले जिन रेलकर्मियों के बच्चों का मेडिकल हो चुका हो, सभी दस्तावेज कार्मिक विभाग के पास हों, उन बच्चों को लार्जेस स्कीम के तहत रेलवे में रोजगार के अवसर पैदा हों, इसके लिए एनएफआईआर और डब्ल्यूसीआरएमएस ने रेल मंत्रालय और रेलवे बोर्ड के स्तर पर लंबे समय तक संघर्ष किया गया है। जिसके आधार पर अब सैकड़ों रेल कर्मचारियों के बच्चों को रेलवे में काम करने का मौका मिलने जा रहा है, जिससे रेल कर्मचारियों में खुशी की लहर है।

नॉन-इंटरलॉकिंग वर्क को लेकर तैयारियां तेज

जबलपुर रेलवे स्टेशन में 29 जुलाई से 27 अगस्त तक चलने वाले नॉन-इंटरलॉकिंग वर्क की तैयारियां तेज हो गई हैं। इस एक महीने के दौरान रेल प्रशासन ने जबलपुर से चलने वाली कुछ गाड़ियों को मदन महल और अधारताल रेलवे स्टेशन से चलाने का निर्णय लिया है। ऐसे में यात्रियों को मदन महल और अधारताल रेलवे स्टेशन पहुंचने और वहां पर यात्री सुविधाओं की कमी महसूस न हो, इसके लिए रेल प्रशासन ने जहां एक ओर ऑटो और बस सुविधा की व्यवस्थाएं कर ली हैं। वहीं दूसरी ओर दोनों स्टेशनों पर बारिश के दौरान यात्री पानी में न भीगें, इसके लिए प्लेटफॉर्म पर लोहे के शेड बनाए जा चुके हैं।

पीने के पानी आदि की सुविधा के तहत नल और वॉटर कूलर लगाए जा चुके हैं ताकि 29 जुलाई से यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार जबलपुर रेलवे स्टेशन पर नॉन-इंटरलॉकिंग वर्क किया जाना है, इस दौरान प्लेटफॉर्म नं. 1 और 6 पर निर्माण संबंधित कार्य होंगे, ऐसे कुछ गाड़ियों को रद्द कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...