दैनिक भास्कर हिंदी: सौगात -  जबलपुर में भी खान-पान की शुद्ध सामग्री मिले इसका लिया चैलेंज

January 20th, 2020

देश का तीसरा "क्लीन स्ट्रीट फूड हब बनेगा शहर में!
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
शुद्ध के लिये युद्ध अभियान के तहत जबलपुर में एक विशेष मार्केट डेव्हलप किया जायेगा, जिसमें क्लीन स्ट्रीट फूड आसानी से मिल सकेगा। क्लीन स्ट्रीट फूड हब के लिये जबलपुर का चयन किया गया है। यह देश में तीसरा केन्द्र होगा। गौरतलब है कि मप्र में ही इंदौर शहर में 56 दुकानों में ऐसा स्ट्रीट फूड अभी मिल रहा है। यह पूरे प्रदेश में फेमस है, इसी तर्ज पर फूड हब बनाया जाना है। 
शहर में खान-पान की सामग्री तो हर क्षेत्र में मिल जाती है, लेकिन शुद्धता की पूरी गारंटी कहीं भी नहीं मिलती। शहर में फूड हब बन जाने के बाद प्रमाणिक तौर पर शुद्धता की गारंटी रहेगी। देश में पहला फूड हब गुजरात के अहमदाबाद की कांकरिया झील में बनने के बाद प्रदेश के  इंदौर में इसे शुरू किया गया जिसकी सफलता के बाद जबलपुर में ऐसे प्रयास शुरू हुए कि लोगों को शुद्ध खान-पान मिल सके। फूड हब बनाने कागजी प्रक्रिया शुरू हो गई है। एफएसएसएआई की टीम जल्द ही आकर क्षेत्र का भ्रमण करेगी और प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जायेगा। 
दुकानदारों की होगी पूरी जाँच
क्लीन स्ट्रीट फूड हब में जो भी दुकानें होंगी वहाँ संचालकों का मेडिकल सर्टिफिकेट िदया जायेगा। सर्टिफिकेट देने से पहले दुकानदारों की शारीरिक जाँच, नाखून व चर्म रोग या अन्य बीमारी का परीक्षण किया जायेगा। इसके साथ ही कचरे का निस्तारण, साफ-सफाई का ध्यान, कुकिंग और नॉन कुकिंग एरिया का निर्धारण करना, स्ट्रीट लाइट, पेस्ट कंट्रोल और आसपास सफाई का स्तर क्या है, यह ध्यान रखा जायेगा।
खान-पान की सामग्री शुद्ध मिलेगी
भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के सीईओ पवन अग्रवाल पिछले दिनों जबलपुर पहुँचे थे और उन्होंने शहर को देखने के बाद कलेक्ट्रेट में बैठक ली थी। सीईओ ने इस दौरान कहा कि शुद्धता के लिये शहर में बहुत से काम हो रहे हैं क्यों न यहाँ क्लीन स्ट्रीट फूड हब बनाया जाये। इसके साथ ही शुद्धता के लिये जो अन्य चैलेंज हैं उसे भी स्वीकार करें। कलेक्टर भरत यादव ने सहमति दी और उन्होंने इस दिशा में काम भी शुरू कर दिया। खाद्य सुरक्षा िवभाग के अधिकारी इस काम में जुट गये और शहर में जगह का चयन शुरू हुआ। क्लीन स्ट्रीट फूड हब के लिये पहली प्राथमिकता सिविक सेंटर क्षेत्र को दी गई है, दूसरे क्षेत्र में विजयनगर और क्राइस्ट चर्च स्कूल के पास का एरिया तय किया गया है। नगर निगम के साथ मिलकर इस काम को आगे बढ़ाया जायेगा और इसके बाद काम जल्द से जल्द पूरा हो इसकी कोशिश की जायेगी। 
इनका कहना है
शहर में शुद्ध खान-पान की सामग्री मिले इसके लिये हमने चैलेंज स्वीकार किया है, इसमें सबसे पहला काम क्लीन स्ट्रीट फूड हब बनाने का है, इसके साथ ही शुद्धता के लिये नियमानुसार अन्य कार्य किये जायेंगे। कलेक्टर ने इस काम को करने प्रस्ताव तैयार कर लिया है, स्थल चयन के साथ ही अन्य प्रक्रियाएँ भी शुरू हो गई हैं। 
-अमरीश दुबे, खाद्य सुरक्षा अधिकारी