comScore

वेतन के 8 हजार रुपए देने के लिए मांगी 1 हजार रुपए की रिश्वत, प्राचार्य गिरफ्तार

वेतन के 8 हजार रुपए देने के लिए मांगी 1 हजार रुपए की रिश्वत, प्राचार्य गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क,नागपुर।  सावनेर पहलेपार स्थित आईटीआई के श्रेणी वन प्राचार्य व उनके सहयोगी को कॉन्ट्रैक्ट शिक्षक से एक हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारियों ने गिरफ्तार किया है। कार्रवाई आईटीआई महाविद्यालय में गुरुवार को शाम 5 बजे की गई।  आरोपी प्राचार्य का नाम सुभाष शिवलागी पेदापल्लीवार (56) नागपुर निवासी व रविकिशन हेमंत कुमार रुषिया (24) पहलेपार सावनेर निवासी है। नागपुर हुड़केश्वर निवासी कॉन्ट्रैक्ट शिक्षक से गत 15 दिन पूर्व सावनेर के महाविद्यालय में प्राचार्य ने घंटे के हिसाब से 15 दिन का वेतन 8 हजार रुपए देने के लिए 1 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी।पिछले कुछ दिनों से  कॉन्ट्रैक्ट शिक्षक उनसे अपना वेतन निकालने की मांग कर रहा था। घूसखोर प्रााचार्य ने पहले तो टालमटोल किया और बाद में सीधे रिश्वत मांग ली। 

17 को योजना बनाई

जानकारी के अनुसार प्राचार्य द्वारा रिश्वत मांगने पर शिकायतकर्ता ने नागपुर स्थित भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो से शिकायत की थी। दो दिन में विभाग के अधिकारियों ने जांच कर 17 अक्टूबर को योजना के तहत दोनों को रंगेहाथ गिरफ्तार किया। कार्रवाई में  ब्यूरो के पीआई गणेश लबडे, सुनील कलंबे, शालिनी जांभुलकर, सुशील यादव, दिनेश दिवले, राजेश बंसोड़, एएसआई नरेन्द्र चौधरी ने हिस्सा लिया।

चार दिन बंद रहेंगी शराब की दुकानें

विधानसभा चुनाव को देखते हुए जिले में 4 दिन तक शराब की दुकानें बंद रहेंगी। 21 अक्टूबर को चुनाव है, इसलिए 19 से 21 अक्टूबर तक शराब दुकानंे बंद रहेंगी। 24 अक्टूबर को मतगणना के दिन भी शराब की दुकानें बंद रखी जाएंगी। जिलाधीश व जिला चुनाव निर्णय अधिकारी रवींद्र ठाकरे ने जिले में कानून-व्यवस्था सुचारु रखने के लिए यह आदेश दिया है। आदेश पर अमल नहीं करनेवाले दुकानदारों के लाइसेंस स्थायी रूप से रद्द करने की चेतावनी दी गई है।  चुनाव प्रचार आखिरी चरण में है आैर हर पार्टी प्रचार में पूरी ताकत झोंक रही है। वाेटरों को रिझाने के लिए कई पार्टियां शराब का पहले से  संग्रहण करके रखती हैं।
 

कमेंट करें
LlFKb