दैनिक भास्कर हिंदी: स्मार्ट क्लास में फिर से पढ़ना चाहते हैं तेलंगाना के डिप्टी सीएम श्रीहरी

February 16th, 2018

डिजिटल डेस्क, अमरकटंक/अनूपपुर। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्मार्ट क्लास से तेलंगाना के डिप्टी सीएम कदियाम श्रीहरी इतने प्रभावित हुए कि वे बोले कि मैं भी इस प्रकार की स्मार्ट क्लास में पुन: पढ़ना चाहता हूं।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की तर्ज पर तेलंगाना में प्रस्तावित केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए विचार-विमर्श के लिए आए तेलंगाना के डिप्टी सीएम कदियाम श्रीहरी ने छात्रों का आह्वान किया कि वे कठिन परिश्रम और नई तकनीक के सदुपयोग से अपने करियर को नई ऊंचाइयां तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि कठिन परिश्रम का कोई विकल्प नहीं है और इसी की मदद से समाज में नई पहचान बनाई जा सकती है।

 


केंद्र सरकार ने बजट में आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में अलग-अलग केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय स्थापित करने के लिए बजट आवंटित किया है। इस बारे में IGNTU की स्थापना से जुड़े शिक्षकों और कर्मचारियों से विचार-विमर्श और यहां आने वाली चुनौतियों के बारे में जानने के उद्देश्य से तेलंगाना राज्य सरकार की ओर से दो सदस्यीय दल IGNTU का दौरा करने के लिए विश्वविद्यालय पहुंचा था।

दल में डिप्टी सीएम कदियाम श्रीहरी और महबूबाबाद के सांसद प्रो. अजमीरा सीताराम नायक शामिल हैं। दोनों ने IGNTU के विभिन्न विभागों का दौरा किया और यहां छात्रों को प्रदान करने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। कुलपति प्रो. टी.वी. कटटीमनी ने IGNTU में जनजातीय छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। दल ने विश्वविद्यालय के डीन और शिक्षकों के साथ भी विमर्श किया।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय की ओर से श्रीहरी और प्रो. नायक को समारोह पूर्वक सम्मानित किया गया। श्रीहरी ने अपने संबोधन में दस वर्ष में विश्वविद्यालय की प्रगति को अतुलनीय बताया। उन्होंने शिक्षकों और छात्रों को अगले कुछ वर्षों में इसे दुनिया की सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में शामिल करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने छात्रों से कहा कि वे इंटरनेट जैसी तकनीक का प्रयोग करके व्यावसायिक जीवन में नई ऊंचाइयों को प्राप्त कर सकते हैं।

 


उन्होंने कहा कि इसके लिए छात्र जीवन का सद्पयोग कर कठिन परिश्रम कर स्वयं के विषय में विशेषज्ञता प्राप्त कर समाज को इसका लाभ प्रदान करना होगा। सांसद श्री नायक ने छात्रों से स्वयं को लक्ष्य पर केंद्रित कर स्वयं में निरंतर नए कौशल का विकास करने का आह्वान किया। उनका कहना था कि छात्र जीवन स्वर्णिम युग होता है जिसका सद्पयोग करके जीवन को सफलता के नए मुकाम तक पहुंचाया जा सकता है।

मैं भी स्मार्ट क्लास में पढ़ना चाहता हूं
IGNTU की स्मार्ट क्लास से डिप्टी सीएम श्रीहरी इतने प्रभावित हुए कि वे बोले कि मैं भी इस प्रकार की स्मार्ट क्लास में पुन: पढ़ना चाहता हूं। उन्होंने तेलंगाना में प्रस्तावित जनजातीय विश्वविद्यालय में इस प्रकार की क्लास बनाने का संकल्प व्यक्त किया।

परिवहन की बेहतर व्यवस्था का सुझाव
श्रीहरी ने मध्यप्रदेश में राज्य परिवहन का अभाव होने का जिक्र करते हुए कहा कि तेलंगाना में छात्रों को पढ़ने के लिए बस के फ्री पास दिए जाते हैं, जिससे उन्हें आने-जाने में दिक्कत नहीं होती। उन्होंने मध्यप्रदेश में भी स्कूली और कॉलेज छात्रों के लिए इसी प्रकार की व्यवस्था लागू करने का सुझाव दिया।