दैनिक भास्कर हिंदी: चलती ट्रेन की खिड़की से महिला यात्रियों के पर्स खींचे ,नहीं हुई कोई सुनवाई

June 14th, 2019

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। हजरत निजामुद्दीन जबलपुर एक्सप्रेस जबलपुर दिल्ली से चलकर जबलपुर की ओर आ रही थी, बुधवार और गुरुवार की दरमियानी रात करीब 2.30 बजे एस-3 कोच में उस समय चीख-पुकार मच गई, जब चलती ट्रेन में खिड़की की ओर सिर कर सो रही तीन महिला यात्रियों के लेडीज बैग किन्हीं अज्ञात तत्वों ने खींच लिए और अंधेरे का फायदा उठाकर गायब हो गए। इस घटना के बाद यात्रियों ने चेन खींचकर ट्रेन को रोका और जीआरपी को चोरी की रिपोर्ट करानी चाही लेकिन उनकी कोई सुनवाई न हो सकी। पीड़ित यात्री ग्वारीघाट जय भीमनगर निवासी अनिल कुमार अडकने ने बताया कि शिमला में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वो अपनी पत्नी संघमित्रा और बेटी प्रतिमा के साथ हजरत निजामुददीन जबलपुर एक्सप्रेस से जबलपुर आ रहे थे।

रात के समय जब सब सो रहे थे, सागर के पहले मालखेड़ी में ट्रेन धीमी हुई तो किसी अज्ञात व्यक्ति ने पत्नी के सिर के नीचे रखा बैग खींच लिया, इस हरकत से उनकी पत्नी की नींद खुल गई और जब उन्होंने बैग गायब देखा तो उन्होंने हल्ला मचा दिया। बैग में एक कीमती मोबाइल, 4500 रुपए सहित अन्य सामग्री थी। इसी बीच बाजू वाली सीट से भी हल्ले की आवाज आने लगी, पता चला कि तीन और महिलाओं के पर्स चोरी हो गए हैं। अडकने व अन्य पीड़ित यात्रियों ने बताया कि मालखेड़ी में मौके पर जीआरपी पहुंची लेकिन ये कहकर शिकायत लेने से इंकार कर दिया कि सागर में शिकायत दर्ज करवा देना। सागर वालों ने दमोह के लिए आगे मामला टाल दिया और आखिकार ट्रेन जबलपुर आ गई लेकिन उनकी कहीं सुनवाई नहीं हुई।
 

ओएचई लाइन टूटी

ओवर हैड इक्विपमेंट लाइन टूटने के कारण जबलपुर की ओर ट्रेनों का यातायात ठप होने के कारण कई गाडिय़ां गुरुवार को देरी से पहुंचीं। जिसकी वजह से यात्री परेशान होते रहे। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार बीती रात करीब 3 बजे निवार स्टेशन के पास ओचई लाइन टूट जाने से अप ट्रैक का यातायात प्रभावित हो गया, जिसकी वजह से अमरकंटक एक्सप्रेस और विंध्याचल एक्सप्रेस को बीच में ही रोकना पड़ा। इसी के साथ अन्य गाडिय़ां के पहिए भी जाम हो गए। करीब 3 घंटे तक चले सुधार के बाद लाइन सुधरी और ट्रेनों का परिचालन शुरु हो गया। जिसके बाद करीब एक दर्जन से अधिक गाडिय़ां गंतव्य की ओर रवाना हुई। जिसमें अमरकंटक एक्सप्रेस सुबह 8 बजे और विंध्याचल एक्सप्रेस 10 बजे जबलपुर पहुंची।