comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कांग्रेस नेता ने बेच दी करोड़ों की सरकारी जमीन - विजय नगर क्षेत्र का मामला

कांग्रेस नेता ने बेच दी करोड़ों की सरकारी जमीन - विजय नगर क्षेत्र का मामला

लोकायुक्त पुलिस ने जगदम्बा गृह निर्माण सोसायटी 
के कदीर सोनी व उसके भाइयों पर दर्ज किया मामला, जाँच में नपेंगे कई अधिकारी 
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
विजय नगर क्षेत्र में प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री पूर्व जेडीए उपाध्यक्ष कदीर सोनी व उनके भाइयों द्वारा गृह निर्माण सोसायटी के नाम पर करोड़ों की सरकारी जमीन बेच दी गई। उक्त मामले की शिकायत की जांच के बाद लोकायुक्त संगठन ने कांग्रेस नेता कदीर सोनी उनके दो भाइयों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। इस मामले में मिलीभगत से सरकारी जमीन खुर्द-बुर्द करने वाले शासकीय अधिकारियों को भी आरोपी बनाया जाएगा। कई अधिकारी निशाने पर हैं। सूत्रों के अनुसार लोकायुक्त संगठन को मुकेश जैन द्वारा दी गई शिकायत में उल्लेख किया गया था कि जगदम्बा गृह निर्माण सहकारी समिति के नाम पर अहिंसा चौक के पास जमीन का आवंटन किया गया था। समिति की जमीन के आसपास ही खसरा नंबर 197 की लगभग दो एकड़ सरकारी मद की भूमि थी। आरोपी कदीर सोनी व उनके भाई रशीद व सईद सोनी ने शासकीय अधिकारियों से मिलीभगत कर यह सरकारी जमीन भी बेच दी है। सरकारी जमीन बेचने के बाद शासकीय विभागों से निर्माण की अनुमति व ननि से नक्शा स्वीकृति कराई गई, यह सब शासकीय विभागों की मिलीभगत से किया गया है। शिकायत की जाँच उपरांत लोकायुक्त द्वारा प्रदेश कांग्रेस महामंत्री कदीर सोनी, उसके भाई रशीद व सईद के खिलाफ धारा 420, 467, 471, 120 बी एवं भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जाँच में लिया गया है। 

कई करोड़ है जमीन की कीमत 
जानकारों के अनुसार जगदम्बा गृह समिति द्वारा करीब 90 हजार वर्गफीट सरकारी जमीन बेची गई है जिसकी कीमत करोड़ों आँकी जा रही है। प्रारंभिक जाँच में पता चला कि जो सरकारी जमीन बेची गयी है उस पर 60 से अधिक मकान बन चुके हैं। लोकायुक्त द्वारा शासकीय जमीन को गृह निर्माण समिति की बताकर बेचे जाने संबंधी दस्तावेजों की जाँच की जा रही है। 
लपेटे में आएँगे कई अफसर  
लोकायुक्त सूत्रों के अनुसार दस्तावेजों की प्रारंभिक जाँच में यह बात सामने आई है कि इस फर्जीवाड़े में तत्कालीन नगर निगम अधिकारी, जेडीए, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग व तत्कालीन एसडीएम, तहसीलदार, पटवारी की मिलीभगत से जमीन बेची गई है। इस मामले की जाँच की परतें जैसे-जैसे खुलेंगी वैसे-वैसे कई और फर्जीवाड़ों का पर्दाफाश होने की संभावना है। अभी कांग्रेस नेता व उसके भाइयों के अलावा कई और लोगों को भी आरोपी  आरोपी बनाया जायेगा। 

कमेंट करें
apURL