comScore

चिन्मयानंद और पीड़िता की जमानत याचिका खारिज, रहना होगा जेल में

चिन्मयानंद और पीड़िता की जमानत याचिका खारिज, रहना होगा जेल में

हाईलाइट

  • चिन्मयानंद और पीड़िता की जमानत याचिका खारिज
  • अब चिन्मयानंद करेंगे इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपील

डिजिटल डेस्क शाहजहांपुर। शाहजहांपुर यौन उत्पीड़न मामले में जेल में बंद स्वामी चिन्मयानंद और उनसे रंगदारी मांगने की आरोपी पीड़ित छात्रा की जमानत याचिका सोमवार को कोर्ट ने खारिज कर दी। इस मामले में चिन्मयानंद 20 सितंबर जबकि पीड़ित छात्रा 25 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में है।

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद की जमानत याचिका खारिज होने के बाद उनके वकील ओम सिंह ने कहा कि अब वह इस मामले की अपील इलाहाबाद हाईकोर्ट में करेंगे। बता दें कि इससे पहले भी निचली अदालत उनकी अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर चुकी है।

वहीं पीड़ित छात्रा के वकील अनूप त्रिवेदी ने बताया कि आज (सोमवार) चिन्मयानंद की जमानत याचिका पर बहस के दौरान सरकारी वकील ने तर्क दिया कि चिन्मयानंद निर्वस्त्र होकर पीड़िता से मालिश करवाते थे। जब पीड़िता इसका विरोध करती थी तो उसके साथ बल का प्रयोग किया जाता था। त्रिवेदी ने बताया कि बलात्कार के मामलों पर बल का प्रयोग करने पर धारा 376 (C) नहीं बल्कि धारा 376 ही लगाई जाती है।

त्रिवेदी के मुताबिक चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने का जो वीडियो पहले वायरल किया गया था, उसके दो हिस्से बनाये गए हैं। उनमें से एक हिस्सा पहले ही वायरल हो चुका था और दूसरा हिस्सा भी 26 सितंबर को वायरल किया गया। त्रिवेदी के मुताबिक 26 सितंबर को वायरल किए गए दूसरे वीडियो में छेड़छाड़ की गयी है।

कमेंट करें
t7aqE