comScore

जानिए दो मुखी रुद्राक्ष से होने वाले लाभ

June 19th, 2018 15:16 IST
जानिए दो मुखी रुद्राक्ष से होने वाले लाभ

डिजिटल डेस्क । रुद्राक्ष पेड़ के फल की गुठली होती है इस गुठली पर प्राकृतिक रूप से कुछ सीधी धारियां होती है। ये धारियां स्पष्ट रूप से दिखाई देती है। इन धारियों की गिनती के आधार पर ही रुद्राक्ष के मुख की गणना होती है।

रुद्राक्ष के लिए इमेज परिणाम

- रुद्राक्ष भगवान शंकर का प्रिय आभूषण है।

- जिस घर में रुद्राक्ष की पूजा की जाती है वहाँ सदा लक्ष्मी का वास रहता है।

- रुद्राक्ष दीर्घायु प्रदान करता है।

- रुद्राक्ष ग्रहस्थों के लिये अर्थ और काम का दाता है।

- रुद्राक्ष मन को शांति प्रदान करता है।

- रुद्राक्ष की पूजा से सभी दुःखों से छुटकारा मिलता है।

- रुद्राक्ष सभी वर्णों के पाप का नाश करता है।

- रुद्राक्ष पहनने से ह्रदय रोग बहुत जल्दी सही होते है।

- रुद्राक्ष तेज और ओज में अपूर्व वृद्धि करता है।

- रुद्राक्ष धारण करने से दुष्ट ग्रहों की अशुभता शरीर में होने वाला विषेला संक्रमण और कुद्रष्टि दोष, राक्षसी वृति दोष शांत रहते है।

रुद्राक्ष के लिए इमेज परिणाम

दो मुखी रुद्राक्ष में दो धारी होती है। ये रुद्राक्ष अर्ध नारीश्वर स्वरूप  है, ये शिव और शक्ति का रूप है। इसे धारण करने से भगवान शिव और माता पार्वती दोनों ही प्रसन्न होते है, दो मुखी रुद्राक्ष पाप से मुक्ति दिलाता है तथा ये दिमाग को सन्तुलित रखता है। इसको पहनने से मनुष्य की बुद्धि जाग्रत होती है। साथ ही घर में हर प्रकार की सुख सुविधा उपलब्ध होती है। इसको धारण करने से पति पत्नी में एकात्मय भाव उतपन्न होता है। ये रुद्राक्ष घर से क्लेश कारण को जड़ से दूर करता है। ये व्यापार में सफलता

दिलाता है. 

रुद्राक्ष धारण करने से पूर्व शिवजी के विग्रह से बहते जल से या पंचामृत से या गंगाजल से धोकर त्र्यंम्बक मंत्र या शिवपंचाक्षर मंत्र ओ` नमः शिवाय से प्राणप्रतिष्ठा करनी चाहिए। उक्त जानकारी सुचना मात्र है, किसी भी निष्कर्ष पर पहुचने से पहले कुंडली के और भी ग्रहों की स्तिथि को भी ध्यान में रख कर परामर्श लें और किसी भी निर्णय पर पहुंचें |
 

कमेंट करें
q41cR