दैनिक भास्कर हिंदी: हल्दी देगी गुरु को मजबूती, जानिए कैसे करें इस्तेमाल 

July 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, भोपाल। जीवन का कोई भी क्षेत्र हो, खानपान से लेकर धार्मिक कार्यक्रमों तक में हल्दी का प्रयोग होता है। हल्दी को मसाले के रूप में रसोईघर में प्रयोग किया जाता है। जो खाने के रंग और खूबसूरती को बढ़ा देती है। वहीं दूसरी ओर यह एक औषधि और धार्मिक सामग्री भी है, जो ना जाने कितने ही तरह से मनुष्य को फायदा पहुंचाती है।

ज्योतिष की बात करें तो हल्दी के कई प्रयोग हैं। हल्दी की सहायता से विभिन्न प्रकार की ग्रह से निर्मित समस्याओं से छुटकारा भी पाया जा सकता है। हल्दी के पीले रंग को बृहस्पति से जोड़ा जाता है, इसलिए ज्योतिषशास्त्र के अंतर्गत किसी जातक की कुंडली में कमजोर बृहस्पति को मजबूती प्रदान करने के लिए हल्दी का प्रयोग किया जाता है। बृहस्पति को मजबूत करने के लिए यह एक रामबाण इलाज माना गया है।

 

Image result for haldi


आइये जानते हैं पीली हल्दी की सहायता से किस तरह मजबूती प्रदान की जा सकती है।

गांठ वाली हल्दी को एक पीले धागे में बांधकर अपने हाथ के बाजू पर या गले में पहनें। यह टोटका पीले पुखराज की तरह कार्य करता है, जो बृहस्पति को मजबूत करने में सहायता देता है। अगर आप भी हल्दी धारण करने का मन बना रहे हैं तो इसे गुरुवार के दिन ही धारण करें शुभ फल प्राप्त होगा।

सामान्य रूप में हल्दी के पीले रंग को ही जाना जाता है। लेकिन हम आपको बता दें हल्दी सिर्फ पीली ही नहीं होती ये नारंगी और काले रंग की भी होती है।

पीली हल्दी का संबंध बृहस्पति से माना गया है, वहीं काली हल्दी का प्रयोग शनि देव के लिए किया जाता है।

कैंसर या पेट की किसी बीमारी से पीड़ित व्यक्ति के लिए हल्दी का दान करना शुभ होता है।

प्रतिदिन सुबह हल्दी का तिलक कर घर से बाहर निकलने पर वाणी को शक्ति प्राप्त होती है

ज्योतिष में बृहस्पति को मजबूती प्रदान करने के अलावा जल्दी शादी के लिए भी हल्दी का प्रयोग किया जाता है।

अगर किसी व्यक्ति की शादी में लगातार बाधाएं उत्पन्न हो रही हैं या फिर किसी कारणवश विवाह संभव नहीं हो पा रहा है तो उसके लिए कुछ टोटके हैं।

जिस पानी से आपको नहाना है उस पानी में हल्दी मिलाकर नहाएं। इसके अलावा सुबह सूर्य को हल्दी मिले पानी से अर्घ्य दें।

सूर्य को जल चढ़ाने के बाद उस लोटे पर लगी हल्दी को माथे और गले पर लगाएं, जल्द ही यह समस्या दूर हो जाएगी। मात्र एक माह तक इस प्रयोग को करने से शादी हो जाएगी।

ज्योतिष के अलावा वास्तु की दृष्टि से भी हल्दी बहुत महत्वपूर्ण होती है, इसकी सहायता से घर की नकारात्मक ऊर्जा से छुटकारा पाया जा सकता है।

 

Image result for haldi


किसी भी शुभ-मांगलिक कार्यों को करते समय अगर हल्दी का प्रयोग किया जाए तो इससे नकारात्मक ऊर्जा से छुटकारा मिलता है। यही कारण है हवन,पूजा-पाठ के समय हल्दी का उपयोग किया जाता है।

ऐसा माना जाता है नहाने के पानी में अगर हल्दी डालकर स्नान किया जाए तो इससे व्यक्ति का तेज बढ़ता है। इतना ही नहीं, आपके आसपास की नकारात्मक ऊर्जा भी आपके ऊपर अपना बुरा प्रभाव नहीं डाल पाती।

ज्योतिष और वास्तु के अलावा रसोईघर में भी हल्दी के उपयोग से विभिन्न तरह के फायदे प्राप्त किए जा सकते हैं।

भोजन में अगर संतुलित मात्रा में हल्दी का उपयोग किया जाए तो यह शरीर को रोग मुक्त बनाता है।

हल्दी के उपयोग से भोजन की सुंदरता और स्वाद तो बढ़ता ही है साथ ही यह संपन्नता भी लाता है।

गुनगुना हल्दी वाला पानी पीने से दिमाग तेज होता है। सुबह के समय हल्दी का गुनगुना पानी पीने से दिमाग तेज और उर्जावान बनता है।

रोज यदि आप हल्दी का पानी पीते हैं तो इससे खून में होने वाली गंदगी साफ होती है और खून जमता भी नहीं है। यह खून साफ करता है और दिल को बीमारियों से भी बचाता है।

लीवर की समस्या से परेशान लोगों के लिए हल्दी का पानी किसी औषधि से कम नही है। हल्दी के पानी में टाक्सिस लीवर के सेल्स को फिर से ठीक करता है। हल्दी और पानी के मिले हुए गुण लीवर को संक्रमण से भी बचाते हैं।

हृदय की समस्या से परेशान लोगों को हल्दी वाला पानी पीना चाहिए। हल्दी खून को गाढ़ा होने से बचाती है। जिससे हर्ट अटैक की संभावना कम हो जाती है।

जब हल्दी के पानी में शहद और नींबू मिलाया जाता है तब यह शरीर के अंदर जमे हुए विषैले पदार्थों को निकाल देता है। जिसे पीने से शरीर पर बढ़ती हुई उम्र का असर नहीं पड़ता है। हल्दी में फ्री रेडिकल्स होते हैं जो सेहत और सौन्दर्य को बढ़ाते हैं।

शरीर में किसी भी तरह की सूजन हो और वह किसी दवाई से ना ठीक हो रही हो तो आप हल्दी वाले पानी का सेवन करें। हल्दी में करक्यूमिन तत्व होता है जो सूजन और जोड़ों में होने वाले असहाय दर्द को ठीक कर देता है। सूजन की अचूक दवा है हल्दी का पानी।

हल्दी कैंसर से लड़ती है और उसे बढ़ने से भी रोक देती है। हल्दी कैंसर रोधी होती है। यदि आप सप्ताह में तीन दिन हल्दी वाला पानी पिएंगे तो आपक भविष्य में कैंसर से हमेशा बचे रहेंगे।

 

Image result for haldi


बच्चों के पेट में कीड़े होने पर 1 चम्मच हल्दी पाउडर रोज सुबह खाली पेट एक सप्ताह तक ताजा पानी के साथ लेने से कीड़े खत्म हो सकते हैं। चाहें तो इस मिश्रण में थोड़ा नमक भी मिला सकते हैं। इससे भी फायदा होगा।

चेहरे के दाग-धब्बे और झाइयां हटाने के लिए हल्दी और काले तिल को बराबर मात्रा में पीसकर पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएं। हल्दी-दूध का पेस्ट लगाने से त्वचा का रंग निखरता है और आपका चेहरा खिला-खिला लगता है।

खांसी होने पर हल्दी की छोटी गांठ मुंह में रख कर चूसें। इससे खांसी नहीं उठती।

त्वचा से अनचाहे बाल हटाने के लिए हल्दी पाउडर को गुनगुने नारियल तेल में मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को हाथ-पैरों पर लगाएँ। इसे त्वचा मुलायम रहती है और शरीर के अनचाहे बाल भी धीरे-धीरे हट जाते हैं।

धूप में काम करने से त्वचा झुलसने या काली पड़ने लगती है ऐसा होने पर हल्दी पाउडर, बादाम चूर्ण और दही मिलाकर प्रभावित स्थान पर लगाएं। इससे त्वचा का रंग निखर जाता है और सनबर्न के कारण काली पड़ी त्वचा भी ठीक हो जाती है। यह एक तरह से सनस्क्रीन लोशन की तरह काम करता है।

मुंह में छाले होने पर गुनगुने पानी में हल्दी पाउडर मिलाकर कुल्ला करने से आराम मिलता है।