comScore

पति पत्नी के बीच विवाद के ये हो सकते हैं कारण, करें ये उपाय

पति पत्नी के बीच विवाद के ये हो सकते हैं कारण, करें ये उपाय

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दो लोगों के बीच यदि तालमेल ठीक ना हो, तो विवाद की स्थिति पैदा हो सकती है। यह बात अच्छे दंपत्ति के लिए भी लागू होती है। कहा जाता है कि सबकी जोड़ी बनाने वाला रब है और निभाते हम और आप हैं। हालांकि कई बार पति-पत्नी के बीच तुनकमिजाजी या नोंक- झोंंक की बात सामने आती है। इसको लेकर कई उपाय किए जाते हैं, लेकिन दोनों के बीच होने वाले झगड़े जारी रहते हैं। क्यों होता है ऐसा और क्या हैं इससे निजात पाने के उपाय आइए जानते हैं...

इन ग्रहों का दायित्व
पत्नी के बीच झगड़ा होने का एक बड़ा कारण ग्रह हो सकते हैं, दरअसल पति पत्नी के बीच ग्रहों की मित्रता आपसी तालमेल निर्धारित करती है। ज्योतिष के अनुसार पति के लिए अच्छा वैवाहिक जीवन शुक्र से आता है वहीं पत्नी के लिए यह काम बृहस्पति करता है। साथ ही पति पत्नी का आपसी सम्बन्ध और तालमेल कुल मिलाकर शुक्र पर निर्भर करता है। ऐसे में जब शुक्र या बृहस्पति कमजोर हों तो वैवाहिक जीवन में काफी समस्याएं आती हैं। यह समस्याएं शनि, मंगल, सूर्य, राहु और केतु से काफी बढ़ जाती हैं। जबकि चन्द्र, बुध और बृहस्पति इन समस्याओं को कम करते हैं। 

कारण (1)
यदि पति पत्नी के बीच विवाद का कारण नशा हो, तो पति पत्नी के ग्रहों में शनि या राहु का प्रभाव हो सकता है या चन्द्रमा पापक्रान्त भी। नशा के कारण पति पत्नी में विवाद बढ़ने लगता है। 

उपाय
ऐसे में हर रोज सुबह सूर्य को जल अर्पित करें। गायत्री मंत्र का 108 बार जाप करें और हर शनिवार की शाम को पीपल के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं। इसी शाम घर में सुन्दरकाण्ड का पाठ जरूर करें। जहां तक हो सके मांसाहार से परहेज करें। 

कारण (2)
अगर पति पत्नी के बीच में धन को लेकर विवाद है तो एक की कुंडली में बुध मजबूत और दूसरे में चन्द्र का मजबूत होना इसका कारण होता है। ऐसे में दोनों के बीच विवाद की स्थिति पैदा होती हैं। ज्योतिष के अनुसार जब दोनों की कुंडलियों में शुक्र मजबूत हो तो  अनावश्यक खर्चे होते हैं, जिससे धन को लेकर विवाद होते हैं। 

उपाय
घर में पूजा स्थान पर राम दरबार की स्थापना करें और उनके समक्ष रोज प्रातः घी का दीपक जलाएं। नियमित रूप से पति पत्नी को शुक्रवार को सफेद मीठी चीजों का दान करना चाहिए।

कारण (3)
यदि पति पत्नी के बीच विवाहेत्तर संबंधों के कारण तनाव हो रहता है तो इन समस्याओं का कारण राहु होता है। जब राहु का प्रभाव शुक्र पर हो तो विवाहेत्तर सम्बन्ध में भयंकर विवाद का कारण बनता है। वहीं राहु का प्रभाव अगर चन्द्र पर हो तो विवाहेत्तर सम्बन्ध नहीं बनते, सिर्फ शक होता रहता है।

उपाय
मां पार्वती और शिव जी को नित्य हर रोत सफेद फूल चढ़ाएं और इसके बाद ॐ पार्वतीपतये नमः का जाप करें। ध्यान रखें आपका शयन कक्ष हमेशा साफ सुथरा रहे। वहीं सोमवार के दिन घर में तीखा न बनाएं और न ही खाएं।
 

कमेंट करें
P5RJw