उपाय: इन मंत्रों के साथ करें भगवान विष्णु की पूजा, जीवन की बाधाएं होंगी दूर

November 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। हिन्दू धर्म में हर दिन किसी ना किसी देवी या देवता को स​मर्पित है। इनमें से गुरूवार का दिन विष्णु भगवान का दिन माना जाता है। कहा जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु जी की पूजन पूरे विधि-विधान से करने पर हर तरह की समस्याओं से निजात मिलती है। 

इतना ही नहीं श्रीहरि अपने भक्तों को धन-धान्य से परिपूर्ण कर देते हैं।  अगर कोई कुवांरी कन्या गुरूवार को भगवान विष्णु का व्रत करती है तो उसे मन चाहे वर की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं पूजा की विधि के बारे में...

पूजा करने के विधि
•    सुबह के समय नहाकर साफ कपड़े पहने।
•    पीले रंग के वस्त्र धारण करें।
•    लाल व काले रंग के वस्त्र भुलकर भी धारण ना करें।
•    इस दिन व्रत करने वाले लोगों को केले के पेड़ की पूजा करना चाहिए । कहा जाता है इसमें भगवान विष्णु का वास होता है।
•    संभव है तो पूजा के साथ व्रत भी करें।
•    केले के वृक्ष की जड़ में जल अर्पित करके, गुड़ व चने की दाल का भोग लगाएं. हल्दी का तिलक भी करें. सरसों के तेल का दीपक प्रज्वलित करें।
•    चने की दाल, हल्दी, पीली मिठाई, मक्के का आटा, मुनक्का, पीले फल व फूल जैसी पीली चीजों का दान करें।
•     भगवान विष्णु व्रत कथा का पाठ अवश्य करें.
•     शांत मन से विष्णु जी के मंत्रों का उच्चारण करें। इनसे प्रभु शीघ्र प्रसन्न होते हैं.
•     पीले फल व शाम के समय सरसों के तेल का दीपक जलाकर, विष्णु जी की आरती करके पीला व सादा भोजन ग्रहण करें।
 इन मंत्रो का करे जाप
1.    ॐ नमोः नारायणाय।
2.     ॐ नमोः भगवते वासुदेवाय।
 विष्णु जी के बीज मंत्र
ॐ बृं बृहस्पतये नम:।
ॐ क्लीं बृहस्पतये नम:।
ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:।
ॐ ऐं श्रीं बृहस्पतये नम:।
ॐ गुं गुरवे नम:।