comScore

जामिया विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी हुई डिजिटल

June 02nd, 2020 11:26 IST
जामिया विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी हुई डिजिटल

हाईलाइट

  • जामिया विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी हुई डिजिटल

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की डॉ. जाकिर हुसैन लाइब्रेरी का डिजिटीकरण किया गया है। ऑनलाइन टीचिंग-लर्निंग-रिसर्च को बढ़ावा देने के लिए इसे अत्याधुनिक ओवरहेड स्कैनिंग डिवाइस से लैस किया गया है। इस डिवाइस के आ जाने से कला, इतिहास और संस्कृति के साथ ही विश्वविद्यालय की दुर्लभ पांडुलिपियों एवं अभिलेखीय महत्व के दस्तावेजों के संरक्षण में भी मदद मिलेगी।

जामिया विश्वविद्यालय ने आधिकारिक बयान में कहा है, फ्रांस में निर्मित, यह बहुत ही तेज रफ्तार स्कैनर एक पेज को एक सेकंड से भी कम समय में स्कैन करने की क्षमता रखता है। इसे भारत के राष्ट्रीय अभिलेखागार, केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय की वित्तीय मदद से अर्जित किया गया है। यह अत्याधुनिक स्कैनर दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों के पुस्तकालयों जैसे जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय, पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय, सेंट्रल फ्लोरिडा विश्वविद्यालय, द ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ जेनेवा, फ्रांस के राष्ट्रीय पुस्तकालय, जर्मनी के हेगन विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी, मैक गिल यूनिवर्सिटी, क्लीवलैंड आर्ट म्यूजियम और फिनलैंड के राष्ट्रीय पुस्तकालय आदि में स्थापित है।

बयान के अनुसार, भारत के केंद्रीय विश्वविद्यालयों में, डॉ. जाकिर हुसैन लाइब्रेरी पहली है, जिसके पास ऐसी आधुनिक और कुशल डिजिटीकरण इकाई है। इस इकाई के स्थापित होने से, बड़े पैमाने पर ऐतिहासिक पांडुलिपियों, दुर्लभ पुस्तकों, पुराने धारावाहिकों, अरबी, फारसी, उर्दू और अंग्रेजी भाषाओं में अभिलेखीय अखबारों के चरणबद्ध डिजिटीकरण की जाकिर हुसैन लाइब्रेरी की योजना है। विश्वविद्यालय की स्थापना में महत्वपूर्ण योगदान करने वाले, महात्मा गांधी, हकीम अजमल खान और डॉ. जाकिर हुसैन आदि के प्राइवेट पेपर्स को भी डिजिटाइज किया जाएगा।

कमेंट करें
7z8I9
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।