comScore

Redmi Y3: सिर्फ 799 रुपए में खरीद सकते हैं ये सेल्फी फोन, जानें ऑफर

Redmi Y3: सिर्फ 799 रुपए में खरीद सकते हैं ये सेल्फी फोन, जानें ऑफर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीनी कंपनी Xiaomi का सेल्फी स्मार्टफोन Redmi Y3 भारतीय बाजार में 7,999 रुपए की कीमत में उपलब्ध है। इस फोन में 32 मेगापिक्सल का सुपर सेल्फी कैमरा दिया गया है। हालांकि Amazon great indian festival सेल में इस फोन को 799 रुपए में खरीदा जा सकता है। क्या है ये ऑफर? आइए जानते हैं...

Redmi Y3 स्मार्टफोन पर Amazon great indian festival में दिए जा रह ऑफर में इसे 799 रुपए में खरीदा जा सकता है। दरअसल 7,999 रुपए की कीमत वाले इस फोन पर यहां 7,199 रुपए तक का एक्सचेंज ऑफर दिया जा र​हा है। जिसके बाद फोन की कीमत घटकर केवल 799 रुपए हो जाएगी। इसके अलावा फोन को नो कोस्ट EMI पर भी बेचा जा रहा है। 

आपको बता दें कि शुरुआत में इस फोन को 9,999 रुपए की शुरुआती कीमत में लॉन्च किया गया था। बाद में कंपनी ने इस फोन की कीमत घटाकर 7,999 रुपए कर दी थी। यह फोन दो वेरिएंट में उपलब्ध है। स्मार्टफोन में Bold Red, Elegant Blue और Prime Black तीन कलर ऑप्शन मिलते हैं। 

स्पेसिफिकेशंस
Redmi Y3 में डॉट नॉच डिजाइन के साथ 6.26 इंच की HD+ IPS डिस्प्ले दी गई है। डिस्प्ले 1520×720 पिक्सल का रेज्यूलेशन देती है। इसकी स्क्रीन को कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 की सुरक्षा दी गई है। पावर के लिए इस स्मार्टफोन में 4,000 mAh की बैटरी दी गई है।  

फोटोग्राफी के लिए इस फोन के बैक में है AI ड्यूल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है। इसमें 12 मेगापिक्सल का प्राइमरी और 2 मेगापिक्सल का सेकंडरी सेंसर दिया गया है।वहीं सेल्फी के लिए इस फोन में ऑटो HDR के साथ 32 मेगापिक्सल का सुपर सेल्फी कैमरा दिया गया है। 

इस फोन में 3GB रैम और 32GB इंटरनल स्टोरेज दी गई है। इस स्मार्टफोन में डेडिकेटेड माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट के साथ ट्रिपल कार्ड स्लॉट दिया गया है। माइक्रोएसडी कार्ड की मदद से फोन की स्टोरेज को 512GB तक बढ़ाया जा सकता है। यह स्मार्टफोन Andriod 9 Pie पर बेस्ड MIUI 10 पर काम करता है। Redmi Y3 में क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 632 प्रोसेसर दिया गया है।

कमेंट करें
fQTqy
कमेंट पढ़े
Ashik Ahirwar July 20th, 2020 09:06 IST

Kiya a fon 799 rupya ka hai

Kumar biresh October 25th, 2019 21:43 IST

Jo abhi naya phone launch hoga hamen pata chahie uska price aur

NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।