दैनिक भास्कर हिंदी: कोटा से लाए गए मप्र के 14 सौ छात्र

April 22nd, 2020

हाईलाइट

  • कोटा से लाए गए मप्र के 14 सौ छात्र

शिवपुरी, 22 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए उठाए गए एहतियाती कदमों के चलते मध्य प्रदेश के सैकड़ों छात्र राजस्थान के कोटा में फंसे गए थे। मध्य प्रदेश सरकार के प्रयास से इन्हीं में से 14 सौ छात्रों को विशेष बसों के वापस लाया गया है।

शिवपुरी की जिलाधिकारी अनुग्रह पी ने संवाददाताओं को बताया, राजस्थान कोटा से 14 सौ बच्चों केा बसों के माध्यम से लाया गया हैं। इनमें शिवपुरी सहित 11 जिलों के छात्र शामिल है। इन सभी छात्रों का स्वास्थ्य परीक्षण कराए जाने के बाद उनके घरों को रवाना किया जा रहा है। छात्रों को खाने आदि की व्यवस्था की गई है। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल भी मौजूद रहे।

जिलाधिकारी के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी छात्रों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की और उनका हाल जाना।

ज्ञात हो कि राज्य के विभिन्न स्थानों के बच्चे कोटा विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए जाते है। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते किए गए लॉकडाउन के कारण राज्य के बड़ी संख्या में छात्र कोटा में ही फंसे हुए हैं। इन छात्रों के परिजन लगातार सरकार से मदद की गुहार कर रहे थे। उसी के चलते यह सरकार की ओर से कोटा बसें भेजी गई और छात्र वापस अपने राज्य लौटे है।

बसों से लौटे बच्चों का शिवपुरी जिले के खरई बैरियर से राज्य की सीमा में प्रवेश किया। इनमें शिवपुरी, ग्वालियर, भिंड, दतिया, टीकमगढ़, छतरपुर, पन्ना, सतना, सिंगरौली, सीधी और रीवा के छात्र-छात्राएं शामिल है। कोटा से यहां पर आए सभी छात्रों की स्क्रीनिंग की जा रही है। लगभग 14 सौ छात्र कोटा से आए हैं। उनका स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद उनके संबंधित जिलों में उनको रवाना किया जा रहा है।