दैनिक भास्कर हिंदी: दाढ़ी रखना पड़ सकता हैं भारी, कोरोना संक्रमित होने का खतरा सबसे ज्यादा  

June 12th, 2021

डिजिटल डेस्क,दिल्ली। कोरोना वायरस से पूरी दुनिया परेशान है। कोरोना की दूसरी लहर ने भारत को तबाह कर दिया है। अर्थव्यवस्था पूरी तरह चौपट हो चुकी है। करोड़ों लोग बेरोजगार हो चुके है। हालांकि, कुछ दिनों से देशभर में संक्रमण के आंकड़े कम हो रहे है। लेकिन इन सब के बाीच एक्सपर्ट्स का मानना हैं कि, भारत में जल्द ही कोरोना की तीसरी लहर आएगी। आए दिन इस वायरस को लेकर नए-नए रिसर्च किए जा रहे है। कोरोना को देखते हुए सभी देशों में मास्क की डिमांड भी बढ़ गई है। ऐसे में जिन लोगों की दाढ़ी लंबी या घनी हैं उनको सावधान रहने की जरुरत हैं क्योंकि दाढ़ी न रखने वालो की तुलना में लंबी और घनी दाढ़ी रखने वालों में कोरोना संक्रमण होने का खतरा ज्यादा बना रहता है। 

coronavirus: A study shows speaking softly scatters fewer coronavirus  particles - The Economic Times


दाढ़ी वालो को क्यों हैं संक्रमण का खतरा
दरअसल, लंबी और घनी दाढ़ी की वजह से आप चाहे  N-25 रेस्पिरेटर लगाए या सर्जिकल मास्क, कोई भी मास्क आपके चेहरे को उस तरीके से कवर नहीं करेगा, जिससे आपको संक्रमण न हो। साल 2017 में इस पर Centers for Disease Control and Prevention (CDC) ने शोध की , जिसमें बताया गया कि, चेहरे पर मौजूद बालों की वजह से मास्क अपना काम ठीक तरह से नहीं कर पाता है।

Covid-19: Kerala still in plateau phase despite 35 days of lockdown | Kochi  News - Times of India

वहीं एबीपी न्यूज डिजिटल में छपी एक खबर के अनुसार, डॉक्टर एंथनी एम रोसी अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्माटोलॉजी के सदस्य का कहना हैं कि,जिन लोगों की दाढ़ी बहुत घनी हैं, उनके चेहरे और मास्क के बीच ऐसे गैप होते हैं, जो वायरस के अंश और वायु प्रवाह को आपके और मास्क के बीच जाने के लिए पर्याप्त होते है। खांसते, छींकते और बात करते वक्त कोरोना वायरस के छोटे-छोटे अंश आपके मास्क के अंदर दाखिल हो सकते है। इसलिए समय-समय पर अपनी दाढ़ी को ट्रिम करते रहे। ख्याल रखें कि, आपकी दाढ़ी आपके चेहरे के हिसाब से होनी चाहिए। 

खबरें और भी हैं...