अमेरिका: नासा ने यूएफओ दिखने से जुड़े मामलों के अध्ययन के लिए टीम का गठन किया

June 11th, 2022

हाईलाइट

  • घटनाओं का वैज्ञानिक निष्कर्ष निकालना मुश्किल

डिजिटल डेस्क, वाशिंगटन। नासा ने शुक्रवार को कहा कि वह उड़नतश्तरी कहे जाने वाले यूएफओ के दिखने से जुड़े मामलों के अध्ययन के लिए एक टीम का गठन किया जाएगा।

नासा का कहना है कि आसमान में यूएफओ के दिखने की घटनाओं को विमान या प्राकृतिक घटना नहीं कहा जा सकता है। यह अध्ययन नौ माह तक किया जाएगा।

वाशिंगटन स्थित नासा मुख्यालय के एसोसिएट एडमिनिस्ट्रेटर थॉमस जुर्बशेन ने कहा कि नासा का मानना है कि सांइटिफिक टूल बहुत ही शक्तिशाली हैं और वे यहां भी अप्लाई करते हैं।

नासा ने कहा कि यूएफओ दिखने की घटनाएं बहुत कम होती हैं इसी वजह से इस प्रकार की घटनाओं का वैज्ञानिक निष्कर्ष निकालना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में टीम उपलब्ध डाटा का अध्ययन करेगी और यह पता लगाएगी कि भविष्य में इसका डाटा कैसे संकलित किया जाए तथा नासा इसका कैसे इस्तेमाल करे।

 

सोर्स- आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.