दैनिक भास्कर हिंदी: Coronavirus in World: दुनिया की 10 प्रतिशत आबादी कोविड-19 से संक्रमित, WHO ने कहा- साल के अंत तक आ सकती है वैक्सीन

October 8th, 2020

हाईलाइट

  • WHO प्रमुख का बड़ा एलान, इस साल के अंत तक मिल जाएगी वैक्सीन
  • दुनिया में हर 10 में से एक व्यक्ति हो सकता है कोरोना संक्रमित
  • भारत में अगले साल मिल जाएगी वैक्सीन

डिजिटल डेस्क, जेनेवा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने एक अनुमान में दुनिया की 10 प्रतिशत आबादी के कोरोनावायरस से संक्रमित होने की आशंका जताई है। डब्ल्यूएचओ के शीर्ष इमरजेंसी एक्सपर्ट माइक रायन ने सोमवार को कहा कि हमारा वर्तमान सर्वश्रेष्ठ अनुमान हमें बताता है कि वैश्विक आबादी का लगभग 10 प्रतिशत इस वायरस से संक्रमित हो सकता है। यह देश पर निर्भर करता है। यह शहरी से ग्रामीण क्षेत्र में भिन्न होता है, यह समूहों में भिन्न होता है। लेकिन इसका क्मतलब यह है कि दुनिया का अधिकांश हिस्सा जोखिम में है।उन्होंने कहा कि दुनिया अब मुश्किल दौर में जा रही है, क्योंकि बीमारी लगातार फैल रही है। उन्होंने विश्व आर्थिक मंच की एक रिपोर्ट के हवाले से कहा कि दक्षिण एशिया के कुछ हिस्सों में मामलों में वृद्धि हुई है और पूरे यूरोप में बीमारी से मौतें बढ़ी हैं और पूर्वी भूमध्य क्षेत्र चिंता का कारण है।

रायन डब्ल्यूएचओ के कार्यकारी बोर्ड को संबोधित कर रहे थे, जहां अमेरिका ने प्रकोप के बारे में सटीक और समय पर जानकारी प्रदान करने को लेकर नाकाम रहने पर चीन पर कटाक्ष किया। डब्ल्यूएचओ ने चीन को ओरिजिन की जांच के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय मिशन में भाग लेने के लिए विशेषज्ञों की एक सूची चीनी अधिकारियों को विचार करने के लिए सौंपी है। अमेरिका के सहायक स्वास्थ्य सचिव ब्रेट गिरोइर ने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि डब्ल्यूएचओ के 194 सदस्य देशों को नियमित रूप से और समय पर अपडेट मिले। यूरोपीय संघ के लिए बोलते हुए जर्मनी ने कहा कि विशेषज्ञ मिशन को जल्द ही तैनात किया जाना चाहिए, ऑस्ट्रेलिया ने भी तेजी से जांच का समर्थन किया है।

WHO प्रमुख का बड़ा एलान, इस साल के अंत तक मिल जाएगी वैक्सीन
बता दें कि अब तक तीन करोड़ 59 लाख से अधिक लोग इस वायरस की चपेट में आकर संक्रमित हो चुके हैं जबकि साढ़े दस लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस अधानोम ने एक बड़ा एलान किया है। अधानोम ने कहा कि हमें कोरोना वैक्सीन की जरूरत होगी और उम्मीद है कि इस साल के अंत तक हमें एक वैक्सीन मिल सकती है। उन्होंने वैक्सीन के उपलब्ध होने पर समान रूप से उसके वितरण को सुनिश्चित करने के लिए सभी नेताओं के बीच एकजुटता दिखाने का आह्वान किया।

दुनिया में हर 10 में से एक व्यक्ति हो सकता है कोरोना संक्रमित 
इससे पहले हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के संक्रमण को लेकर एक डराने वाला खुलासा किया है। दरअसल, स्विट्जरलैंड के जेनेवा स्थित विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुख्यालय में संगठन से जुड़े नेताओं की एक विशेष बैठक में डब्ल्यूएचओ ने कहा कि हो सकता है कि दुनिया में हर 10 में से एक व्यक्ति कोरोना से संक्रमित हुआ हो। संगठन ने कहा कि कोरोना संक्रमण का असली आंकड़ा 80 करोड़ के करीब हो सकता है। 

बाजार में कब आएगी फाइजर की वैक्सीन? 
कोरोना वैक्सीन बना रही फाइजर कंपनी को उम्मीद है कि इस महीने उसे नियामकों से मंजूरी मिल जाएगी, जिसके बाद इस साल के अंत तक वह बाजार में अपनी वैक्सीन उतार देगी। फाइजर ने इस वैक्सीन को बायोएनटेक के सहयोग से विकसित किया है। कंपनी ने वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक देने के लिए अमेरिकी सरकार के साथ लगभग दो अरब डॉलर का सौदा भी किया है।

ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन का क्या है हाल? 
बता दें कि ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन अगले साल की शुरुआत में बाजार में आ सकती है। फिलहाल कई देशों में इसके तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है। वैसे इस वैक्सीन को रेस में सबसे आगे माना जा रहा था, लेकिन ट्रायल के दौरान एक व्यक्ति के बीमार पड़ जाने के कारण ट्रायल को कुछ दिन के लिए बीच में ही रोक दिया गया था। इस वजह से माना जा रहा है कि वैक्सीन लॉन्च होने में देरी हो सकती है।

भारत में अगले साल मिल जाएगी वैक्सीन 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ। हर्षवर्धन ने बीते रविवार को 'संडे संवाद' कार्यक्रम के दौरान बताया कि सरकार का लक्ष्य है कि 2021 की जुलाई तक 20-25 करोड़ नागरिकों को कोरोना का टीका लग जाए। उन्होंने कहा कि फिलहाल सरकार वैक्सीन की 40-50 करोड़ खुराक हासिल और उसके उपयोग की योजना बना रही है। 

कोरोना से सबसे प्रभावित देश
भारत ही एक मात्र देश है जहां कोरोना महामारी सबसे तेजी से बढ़ रही है। हालांकि कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की लिस्ट में अमेरिका पहले पायदान पर है। यहां अबतक 77 लाख लोग संक्रमण के शिकार हो चुके हैं। अमेरिका में पिछले 24 घंटों में 38 हजार से ज्यादा नए केस आए हैं। वहीं ब्राजील में 24 घंटे में 30 हजार से ज्यादा मामले आए हैं। दुनिया में कोरोना मामलों में नंबर-2 स्थान पर पहुंच चुके भारत में हर दिन सबसे ज्यादा केस सामने आ रहे हैं।

  • अमेरिका:          केस- 7,717,991, मौत- 215,735
  • भारत:               केस- 6,754,179, मौत- 104,591
  • ब्राजील:             केस- 4,970,953, मौत- 147,571
  • रूस:                  केस- 1,237,504, मौत- 21,663
  • कोलंबिया:         केस- 869,808, मौत- 27,017
  • स्पेन:                  केस- 865,631, मौत- 32,486
  • पेरू:                   केस- 832,929, मौत- 32,914
  • अर्जेंटीना:           केस- 824,468, मौत- 21,827
  • मैक्सिको:           केस- 789,780, मौत- 81,877
  • साउथ अफ्रीकाः केस- 683,242, मौत- 17,103

23 देशों में 3 लाख से ज्यादा कोरोना केस
दुनिया के 23 देशों में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3 लाख के पार पहुंच चुकी है। इनमें ईरान, पाकिस्तान, तुर्की, सउदी अरब, इटली, जर्मनी और बांग्लादेश भी शामिल है। दुनिया में 60 फीसदी लोगों की जान सिर्फ छह देशों में गई है। ये देश हैं- अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत, ब्रिटेन, इटली। दुनिया के चार देशों (अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत) में 75 हजार से ज्यादा संक्रमितों की मौत हुई है। इन चार देशों में 5 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई है, ये संख्या दुनिया में मौतों की कुल 52 फीसदी है।

 

खबरें और भी हैं...