रूस: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर जानलेवा हमला, बाल-बाल बचे

September 15th, 2022

हाईलाइट

  • पुतिन पूरी तरह से सुरक्षित

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। रूस और यू्क्रेन के बीच जंग जारी है। इसी बीच एक बड़ी खबर आ रही है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर जानलेवा हमला हुआ है। हालांकि पुतिन पूरी तरह से सुरक्षित हैं। यूरो वीकली न्यूज ने पुतिन पर हमले को लेकर बड़ा खुलासा किया है। बताया जा रहा है कि उनके काफिले का रास्ता रोककर उन पर हमले की कोशिश की गई है।

इस पूरे मामले को लेकर सुरक्षा एजेंसियां जांच में जुट चुकी हैं। कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। वहीं राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगे कई कर्मचारी सस्पेंड कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, पुतिन पर इस तरह का हमला पहली बार नहीं हुआ है। साल 2017 में उन्होंने खुद जानकारी दी थी कि किस तरह से 5 बार जानलेवा हमले में उनकी जान बची थी। 

ऐसे हुई घटना

यूरोवीकली की खबर के अनुसार, राष्ट्रपति पुतिन अपने आवास से कुछ ही दूरी पर थे कि उनके बाएं कार के पहिए पर कोई चीज अचानक टकराया। उसी दौरान उनकी सुरक्षा में लगी एक कार को एंबुलेंस ने रोक लिया। अचानक इस बाधा के बाद दूसरी सुरक्षा में लगी कार भटक गई। इस पूरे मामले को लेकर रूसी मीडिया ने अभी कुछ साफ नहीं किया है क्योंकि वह पर मीडिया पर कड़ी नजर रखी जाती है। यूरोवीकली के मुताबिक, पुतिन पर लगातार हमले की संभावना बढ़ने की वजह से वह डिकॉय मोटरकेड में सफर करते हैं। पुतिन पर हमले की खबर के बाद दुनियाभर में हलचल तेज हो गई है।

सुरक्षा में हुई चूक

सूत्रों के हवाले से खबर है कि पुतिन की सुरक्षा में चूक का काफी गंभीर मामला है। इस मामले में लापरवाही बरतने के कारण पुतिन की सुरक्षा में लगे कई सुरक्षाकर्मियों को  गिरफ्तार भी किया गया है। बताया ये भी जा रहा है कि जिन सुरक्षा गार्डो ने पुतिन के आने-जाने को लेकर जासूसी की थी। उन्हें तत्काल प्रभाव से सुरक्षा से हटा दिया गया है।

जीवीआर टेलिग्राम चैनल ने दावा किया है कि पुतिन सुरक्षा खतरे को देखते हुए एक झांसा देने वाले सुरक्षा दस्ते के साथ घटना के समय अपने आवास पर जा रहे थे। उनके इस काफिले में 5 हथियारबंद कारें थीं, जिसमें तीसरी कार में पुतिन मौजूद थे। हालांकि हमले में पुतिन व सुरक्षादलों को किसी भी तरह की क्षति की खबर नहीं है।

एससीओ में पीएम मोदी से करेंगे मुलाकात

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर हमला ऐसे समय पर हुआ है, जब वह एससीओ की बैठक में हिस्सा लेने के लिए समरकंद की यात्रा पर जा रहे हैं। वहां वो भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे। पीएम मोदी व राष्ट्रपति पुतिन की मुलाकात पर दुनिया की नजर टिकी है। दिलचस्प बात यहा है कि वॉशिंगटन भी इस मुलाकात पर पैनी नजर बनाए हुए है।