दैनिक भास्कर हिंदी: पाकिस्तान: धार्मिक नफरत फैलाने पर पत्रकार को दी गई जेल की सजा

December 31st, 2019

हाईलाइट

  • पत्रकार नसरुल्लाह खान को 5 साल की जेल और 10,000 रुपए का जुर्माना
  • राष्ट्र विरोधी साहित्य रखने और धार्मिक नफरत फैलाने के लिए दी गई सजा

डिजिटल डेस्क, कराची। पाकिस्तान में राष्ट्र विरोधी साहित्य रखने और धार्मिक नफरत फैलाने के लिए मंगलवार को एक पत्रकार को आतंकरोधी अदालत द्वारा 5 साल की सजा दी गई। डॉन न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक पत्रकार नसरुल्लाह खान चौधरी को कराची गार्डेन इलाके से 11 नवंबर, 2018 को गिरफ्तार किया गया था। उस पर आरोप था कि उसने अपने पास अफगान जिहाद और पंजाबी तालिबान से जुड़ी कुछ किताबें रखी हुई थीं।

नसरुल्लाह खान के पास रखीं इन किताबों में सांप्रदायिक फूट डालने और लोगों को जिहाद के लिए प्रेरित करने की विषय-वस्तु शामिल थी। इसके चलते उर्दू भाषा के दैनिक अखबार 'नई बात' से जुड़े नसरुल्लाह खान को 1997 के आतंकवाद विरोधी अधिनियम की धारा 11 F (I) के तहत दंडनीय अपराध करने का दोषी पाया गया है। साथ ही अदालत ने नसरुल्लाह खान पर 10,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

इससे पहले अदालत ने 21 दिसंबर को मामले पर अंतिम बहस के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। हालांकि नसरुल्लाह खान ने खुद पर लगे आरोपों से इनकार किया। अदालत के फैसले के बाद 'पाकिस्तान फेडरल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स' और 'कराची यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स' ने इस मामले पर अपनी गंभीर चिंता व्यक्त की है।