comScore

अनुष्का शर्मा की बिंदिया ने लूटा दिल, आप भी जानिए बिंदी लगाने के टिप्स

September 06th, 2018 18:26 IST


डिजिटल डेस्क । इन दिनों देसी फैशन का काफी चलन है। जींस के उपर दुपट्टा, चूड़ियां, प्लाजो पर शर्ट्स और वेस्टर्न ड्रेस पर देसी ज्वैलरी। ये सब काफी पसंद किया जा रहा है। वहीं टिपीकल इंडियन फैशन को भी इंटरनेशनल लेवल पर काफी सरहाना मिल रही है। हाल ही में जब टीम इंडिया और इंग्लैंड के टी-20  मैच के दौरान कैप्टन विराट की वाइफ और एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा पर कैमरों की नजर पड़ी तो बस पूरे मैच में वो छाई रहीं। 6 जुलाई को टीम इंडिया और इंग्लैंड का टी-20 मैच चल रहा था। एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा पर कैमरा बार-बार फोकस हो रहा था। दरअसल सफेद चिकन सूट, कानों में झुमके और उसके साथ काली बिंदी। ज्यादातर वेस्टर्न लुक में नजर आने वाली अनुष्का, पहली बार पति विराट कोहली के किसी मैच में, इंडियन अवतार में नजर आईं थी। सोशल मीडिया पर अनुष्का का ये देसी लुक बहुत वायरल हुआ था। 

ऐसा क्या खास था इस लुक में? 

अनुष्का शर्मा के चेहरे पर एक मध्यम आकार की काली बिंदी, जो उनकी सुंदरता में चार चांद लगा रही थी। 

बिंदी न सिर्फ महिलाओं की खूबसूरती बढ़ाती है, बल्कि उनकी हेल्थ का भी ख्याल रखती है। आमतौर पर महिलाएं ट्रडिशनल लुक के लिए बिंदी लगाती हैं, लेकिन अब हेल्थ से जुड़े इन फायदों को देखते हुए वो ऐसी महिलाएं भी बिंदी लगाने लगी हैं, जो पहले कभी बिंदी नहीं लगाती थीं।

सिरदर्द से राहत मिलती है

एक्यूप्रेशर के अनुसार, कुछ सेकंड के लिए इस बिंदु को दबाकर रखने से, लगभग तुरंत सिरदर्द से छुटकारा मिल सकता है, क्योंकि इस बिंदु पर कई महत्वपूर्ण नर्व आकर मिलती हैं।

साइनस से राहत मिलती है

ट्राइगेमिनल नर्व, जो पूरे चेहरे में सनसनी के लिए ज़िम्मेदार है, इस क्षेत्र जगह से गुज़रती है। यह नर्व क्रैनियल नसों में से सबसे बड़ी है, और इसमें तीन शाखाएं हैं, जैसा कि आप शायद नाम से बता सकते हैं। इस तंत्रिका को उत्तेजित करने से आपके साइनस में सूजन और सूजन और कन्जेकशन कम हो जाती है।

दृष्टि और आंखों के स्वास्थ्य में सुधार करती है

Supratrochlear नर्व भी जगह से होकर गुजरती है। यह नर्व frontal नर्व की एक शाखा है, जो बदले में ट्राइगेमिनल नर्व के ओफ्थल्मिक विभाजन की एक शाखा है। यह आंखों के चारों ओर की सभी मांसपेशियों से जुड़ा हुई है, इसलिए इस नर्व को उत्तेजित करने से दृष्टि और आंखों के स्वास्थ्य में सुधार होता है।

आपकी त्वचा को युवा रखती है

ट्राइगेमिनल नर्व की शाखाएं आपके पूरे चेहरे को बहुत अधिक कवर करती हैं। इस तंत्रिका को उत्तेजित करने से आपकी त्वचा को युवा और आपकी चेहरे की मांसपेशियों को मजबूत रखने में मदद मिलती है।

अवसाद से बचाती है

ट्राइगेमिनल नर्व इतनी महत्वपूर्ण नर्व है कि मेडिकल कम्युनिटी अब डिप्रेशन, मिर्गी और पोस्ट-आघात संबंधी तनाव विकार (PTSD) के इलाज के लिए बहुत कम तीव्रता वाले बिजली के झटके के साथ इस नर्व को उत्तेजित करने के तरीकों का शोध कर रहा है। हर दिन कुछ सेकंड के लिए इस नर्व को दबाकर, आप इन स्थितियों को शुरू में ही रोक सकती हैं!

सुनने की क्षमता में सुधार करती है

इस क्षेत्र से गुज़रने वाली नसों में से एक, आपके cochlear को उत्तेजित करता है, जो सुनने के लिए आंतरिक कान का महत्वपूर्ण हिस्सा है।

आंखों को तनाव, थकान और अनिद्रा से राहत मिलती है 

आपने शायद देखा है कि जब आप स्ट्रेस्ड हो जाती हैं, तब आपकी भौहें और माथे की स्किन सिकुड़ जाती हैं। यह एरिया आपके स्ट्रेस्ड होने का सूचक है, इसलिए इसे स्ट्रेस से दूर रखना चाहिए। बालासन (चाइल्ड पॉज़) को सबसे आरामदायक योग में से एक माना जाता है, क्योंकि यह इस क्षेत्र को उत्तेजित करता है। एक्यूप्रेशर तनाव, थकान और आंखों के तनाव से छुटकारा पाने के लिए इस क्षेत्र को उत्तेजित करने पर भी ज़ोर देता है।

ऐसा माना जाता है कि इस बिंदु को उत्तेजित करने से चेहरे और शरीर को इस हद तक आराम मिलता है कि यह अनिद्रा से निजात दिलाता है और आराम की नींद को बढ़ावा देता है। ये बिंदु मस्तिष्क में एक छोटे मटर के आकार की ग्रंथि, पाइनल ग्रंथि से भी बहुत निकटता से जुड़ा हुआ है जो हार्मोन सेरोटोनिन और मेलाटोनिन उत्पन्न करता है। मेलाटोनिन नींद हार्मोन है, जबकि सेरोटोनिन खुशी से संबंधित हार्मोन में से एक है।

स्मृति और एकाग्रता को बढ़ावा देता है

योग और एक्यूप्रेशर दोनों के अनुसार, इस बिंदु को उत्तेजित करने से स्मृति और एकाग्रता बढ़ जाती है।

अंतर्ज्ञान और जागरूकता में सुधार करता है

प्राणायाम के अनुसार, यह चक्र अंतर्ज्ञान, रचनात्मकता, आध्यात्मिक जागरूकता, दृश्यता, ज्ञान, बुद्धि और समझ से जुड़ा हुआ है।

कैसे सिलेक्ट करें बिंदी ?

बिंदी को सिलेक्ट करते वक्त आपको इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि वो आपके फेस पर कैसी लगेगी? जिसका मतलब ये हुआ कि आपको अपने फेस कट के हिसाब से बिंदी लगानी चाहिये। कई बार आपके लिये एक बिंदी खरीदना थोड़ा ट्रिकी हो जाता होगा। बिंदी लेते वक्त आपको कुछ बात बातों का खास ख्याल रखना होता है।

गोल फेस पर सर्क्यूलर और जेमेट्रिकल शेप बिंदी लगाएं

आपके फेस की बनावट आपकी चीक बोन से पता चलती है कि आपका फेस गोल है। ऐसे में आपके फेस पर कौन-सी बिंदी अच्छी रहेगी? ये जानना आपके लिये बेहद ही जरूरी हो जाता है। बिंदी लगाते वक्त आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप जेमेट्रिकल शेप बिंदी ना लगायें।

अगर आपका फेस राउंड है तो आपको आपको एक वर्टिकल बिंदी लगानी चाहिये। ये बिंदी आपके फेस पर बेहद ही खूबसूरत लगेगीं। ये बिंदी आपके फेस पर एक वर्टिकल इल्यूजन बनायेगी। जो आपके फेस पर काफी अच्छी लगेगीं। इसके साथ आप एक सर्क्यूलर बिंदी भी लगा सकतीं। अगर आप छोटी बिंदी लगातीं हैं तो भी ये आपके ऊपर खूबसूरत लगेगी। बिंदी लगाते वक्त इस बात का खास ध्यान रखना है कि आप ज्यादा बड़ी बिंदी ना लगायें।

ओवल शेप फेस पर करें एक्सपेरिमेंट 

अगर आपका फेस ओवल शेप है तो आप अपने फेस के साथ कई सारे एक्सपेरिमेंट कर सकतीं हैं। जी हां चाहे वो सनग्लासेस हों या फिर बिंदी। एक ओवल शेप में कई फीचर्स होते हैं जिन्हें आप अपनी खूबसूरती निखारने के लिये इस्तेमाल कर सकतीं हैं।

डायमंड शेप फेस नुकीली बिंदी

डायमंड शेप जैसी फेस वालीं महिलाओं का माथा थोड़ा छोटा होता है। उनकी जॉ लाइन काफी स्ट्रॉन्ग होती है। वहीं बिंदी की बात की जाए तो आपको बिंदी लगाते वक्त नुकीली शेपवाली बिंदी को लगाने से थोड़ा बचना चाहिये। ये आपके फेस पर थोड़ी ऑड लगेंगीं। इस बिंदी को छोड़कर आप कोई भी बिंदी ट्राई कर सकतीं हैं।

हार्ट शेप फेस पर लगाएं छोटी बिंदी 

अगर आपका हार्ट शेप फेस है तो आपका माथा थोड़ा बड़ा होगा। आपकी चीक बोन्स थोड़ीं नैरो होंगी। इसके साथ ही आपकी चिन भी थोड़ी छोटी होगी। अगर आप बिंदी लगातीं हैं तो आपको एक छोटी बिंदी लगानी चाहिये। लेकिन इसमें भी एक बात सामने आती है कि अगर आप एक छोटी बिंदी लगातीं हैं तो वो आपके माथे पर काफी space छोड़ देगी। जिससे आपका फेस अच्छा नहीं लगेगा। इसलिये आप एक बड़ी बिंदी लगा सकतीं हैं। ये आपके लुक को और ज्यादा खूबसूरत बनायेगी।

कमेंट करें
v8Nl9