comScore

Travel : जानिए हैदराबाद के टॉप पर्यटन स्थल, बिरयानी और पारंपरिक व्यंजन का भी उठाए लुत्फ


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। हैदराबाद दक्षिणी भारत के तेलंगाना राज्य की राजधानी है। यह टेक्नोलॉजी इंटस्ट्री के लिए एक प्रमुख केंद्र के साथ ही कई अपस्केल रेस्तरां और दुकानों का घर है। इसकी स्थापना कुतुब शाही वंश के शासक मोहम्मद कुली कुतुब शाही ने 1591 में की थी। मूसी नदी के किनारे पर बसा यह एक खूबसूरत शहर है। यहां कई ऐतिहासिक और बहुचर्चित स्थल है, जिन्हें देखने पर्यटक यहां आते हैं। तो आइए हम आपको बताते हैं यहां की उन खास जगहों के बारे में जिन्हें देखना आप वाकई पसंद करेंगे।

1.गोलकोंडा फोर्ट
गोलकोंडा का किला हैदराबाद शहर से 12 किमी की दूरी पर स्थित है। यह किला अपने बेशकीमती खजानों व रहस्यमयी गुफाओं के लिए जाना जाता है। अगर आप इस किले के सबसे ऊपरी भाग पर जाएं तो आपको इसकी ऊंचाई का पता चलेगा, जहां से आप पूरे हैदराबाद का दीदार कर सकते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि कोहिनूर हीरा गोलकोंडा से संबंध रखता है। कहा जाता है 17 वीं शताब्दी के दौरान गोलकोंडा हीरे-जवाहरातों का प्रसिद्ध बाजार हुआ करता था। जिसमें भारत का कोहिनूर भी शामिल था। 

2.चारमीनार
चारमीनार को मोहम्मद कुली कुतुब शाही ने 1591 में बनवाया था। हैदराबाद की पहचान बन चुकी इस ऐतिहासिक इमारत ने पूरे विश्व में चर्चा हासिल की है। यह भव्य इमारत प्रचीन काल की उत्कृष्ट वास्तुशिल्प का बेहतरीन नमूना है। इस टॉवर में चार मीनारें हैं, जो कि चार मेहराब से जुड़ी हुई हैं। जब कुली कुतुब शाही ने गोलकुंडा के स्थान पर हैदराबाद को नई राजधानी बनाया, तब चारमीनार का निर्माण करवाया गया था। चारमीनार न सिर्फ अपनी भव्य उपस्थिति बल्कि पुराने समय के गौरव के कारण भी बड़ी संख्या में पर्यटकों को अपनी ओर खींचता है।

3. रामोजी फिल्म सिटी 
रामोजी फिल्म सिटी दुनिया का सबसे बङ़ा फिल्म स्टूडियो कॉम्प्लेक्स है। इसे गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दुनिया के सबसे बड़े फिल्म कॉम्प्लेक्स के रूप में प्रमाणित किया जा चुका है। यह हैदराबाद से 25  किलोमीटर दूर नलगोंडा मार्ग में स्थित है। यह स्टूडियो 2000 एकड़ (8.2 वर्ग किलोमीटर) से भी अधिक क्षेत्रफल में फैला हुआ है। इस स्टूडियो में 50 शूटिंग फ्लोर है। यहां एक साथ 15 से 25 फिल्मों की शूटिंग की जा सकती है। फिल्म-निर्माण के अलावा रामोजी फिल्म सिटी एक प्रसिद्ध पर्यटन केंद्र भी है, जहां हर साल दस लाख से भी ज्यादा लोग आते हैं। 

4.बिरला मंदिर 
एक 280 फीट ऊंची पहाड़ी पर निर्मित, हैदराबाद का बिरला मंदिर भारत का एक लोकप्रिय मंदिर है। हैदराबाद में बिरला मंदिर, भगवान वेंकटेश्वर को समर्पित है, जो दो हजार टन सफेद राजस्थानी संगमरमर से बना है। यह मंदिर हुसैन सागर झील के पास स्थित है। मंदिर का समय: सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक, शाम 3 बजे से रात्रि 9 बजे तक है। यह मंदिर आदर्श नगर कॉलोनी, नौबाथ पहाड़, हुसैन सागर झील के पास स्थित है

5.फलकनुमा पैलेस 
फलकनुमा पैलेस 32 एकड़ क्षेत्र पर बना हुआ है और चारमिनार से 5 किमी की दूरी पर है। इसका निर्माण नवाब वकार उल उमर ने करवाया था जो कि हैदराबाद के प्रधानमंत्री थे। राजा-महाराजाओं के समय में यहां जनता दरबार लगता था। पैलेस में कुल 22 हॉल और 60 कमरे हैं। इस पैलेस को बाद में खूबसूरत होटल में बदल दिया गया। यहां दुनिया का सबसे बड़ा डाइनिंग हॉल है जिसमें एक साथ 101 लोग बैठकर खाना खा सकते हैं।  

कैसे पहुंचे और कहा रुकें?
हैदराबाद हवाई, रेल और सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। हैदराबाद एयरपोर्ट मुख्य शहर से 8 किमी की दूरी पर है। सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन, हैदराबाद रेलवे स्टेशन और काचीगुडा रेलवे स्टेशन हैदराबाद के तीन महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन हैं। वहीं शहर के सभी प्रमुख पर्यटन स्थलों के लिए सरकारी और निजी बसें नियमित रूप से चलती है। हैदराबाद में बहुत सारे होटल उपलब्ध हैं और यात्री अपने बजट के अनुसार इसे चुन सकते हैं। यहां आप स्वादिष्ट बिरयानी और पारंपरिक व्यंजन का लुत्फ उठा सकते हैं।

कमेंट करें
83rvh