comScore

CORONA VIRUS: लॉकडाउन में बुजुर्ग कपल का प्यार बना मिसाल, पत्नी ने लिखे 45 लव-लेटर, जानें खूबसूरत love story की कहानी

CORONA VIRUS: लॉकडाउन में बुजुर्ग कपल का प्यार बना मिसाल, पत्नी ने लिखे 45 लव-लेटर, जानें खूबसूरत love story की कहानी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कहते हैं प्यार अगर सच्चा हो तो पूरी कायनात उसे मिलाने की साजिश रचती है और ऐसा प्यार मौत को भी मात दे सकता है। इन्हीं कहावतों को चीन के एक बुजुर्ग कपल ने सच साबित किया है। बेहद खास है मौत के खिलाफ जंग लड़ने वाले चीन के हांगझू शहर के बुजुर्ग कपल की लव-स्टोरी। इस बुजुर्ग जोड़े की कहानी सुनकर किसी की भी आंखे भर आएगी। दरअसल, 84 साल के हुवांग गोशी के पति सन 55 दिनों से अस्पताल में भर्ती थे। इस बीच चीन में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन हो गया और लॉकडाउन के कारण ये कपल मिल नहीं सकता था। इसी बीच पति से दूर होने के बाद हुवांग गोशी ने 45 लव लेटर लिखे।

ये एक ऐसी लव स्टोरी है, जिसको जानकर आप भी चकित रह जाएंगे। सोशल मीडिया पर ये कोरोना के कहर के बीच खूबसूरत लवस्टोरी के रूप में वायरल हो रही है। ये प्यार है 85 साल की इंगा रासमुसेन और 89 साल के कार्स्टन ट्यूखसेन के बीच का। इंगा डेनमार्क में रहती हैं और कार्स्टन जर्मनी में। पहले वो रोज मिलते थे। मिलते तो अब भी हैं, लेकिन बंद बॉर्डर के दोनों छोर से। दरअसल कोरोना के कारण इन दोनों देशों की सीमाएं फिलहाल बंद कर दी गई हैं।

दो साल पुरानी है लव-स्टोरी
ये लवस्टोरी दो साल पुरानी है, जो इन दिनों डेनमार्क और जर्मनी के साथ पूरे यूरोप में चर्चा का विषय बनी हुई है। दो साल पहले जब उन्होंने पहली बार प्यार का इजहार किया था, उसके बाद शायद ही कोई ऐसा दिन गुजरा हो, जब वो एक-दूसरे से मिले नहीं हों। एक-दूसरे को देखा नहीं हो, लेकिन पिछले दो हफ्तों से उनके प्यार के बीच कोरोना वायरस आ गया है। कोरोना के चलते यूरोप के तमाम देशों ने अपनी खुली सीमाओं को बेरिकेट्स लगाकर बंद कर दिया है। 

CORONA VIRUS: चीन पर भड़कीं रवीना टंडन, इंसान को बताया मूर्ख प्राणी

बॉर्डर भी नहीं रोक सका प्यार
बॉर्डर बंद होने के बाद ही इंगा और कार्स्टन का मिलना रुका नहीं है, बस अब वो जरा फासले से मिलते हैं। इंगा अपनी साइकल से डेनमार्क की अपनी सीमा तक आती हैं और कार्स्टन जर्मनी के बॉर्डर तक। दोनों बेरीकेट्स के दोनों ओर आमने सामने बैठकर बातें करते हैं। फिर विदा ले लेते हैं। दरअसल, इंगा डेनिस सीमा के करीब गैलेहस गांव में रहती हैं, जबकि कार्स्टन जर्मनी के सदरलुगम में। इन दोनों जगहों के बीच की दूरी करीब 15 किलोमीटर है और बीच में बॉर्डर है। जब तक ये नहीं था, तब तक दोनों आराम से मिल लेते थे। हालांकि अब ये दोनों 15 किलोमीटर की ये दूरी लांघते हुए एक-दूसरे से मिलते हैं।

ऐसे हुई थी पहली मुलाकात
इंगा और कार्स्टन की मुलाकात दो साल पहले संयोग से हुई थी। इंगा के पति का निधन हो चुका था। कार्स्टन की पत्नी भी दुनिया को अलविदा कह चुकी थीं। अकेले रहते दोनों बुजुर्ग एक दूसरे से बातचीत करने लगे। इसी बीच कार्स्टन ने इंगा को फूल भेंट किए। दरअसल, ये फूल कार्स्टन किसी और महिला के लिए लेकर गए थे, लेकिन उन्होंने इंगा को दे दिया।

कासटर्न ने डेट के लिए पूछा
दोपहर बाद कार्स्टन ने इंगा से पूछा कि क्या वह उनके साथ घूमने चलेंगी? इंगा राजी हो गईं। फिर अगले दिन कार्स्टन ने इंगा को पार्टी का न्योता दिया और मुहब्बत का सिलसिला चल पड़ा। दोनों को याद है कि 13 मार्च 2019 के बाद से दोनों हर दिन एक दूसरे के साथ रहे हैं। इंगा और कार्स्टन को उम्मीद है कि ईस्टर तक सीमा खुल जाएगी और वे फिर एक दूसरे के साथ घूम सकेंगे।

DEATH: लॉकडाउन के बीच सलमान के भतीजे की मौत, सलमान ने फोटो शेयर कर दी श्रद्धांजली

45 लव-लेटर की बेजोर लव-स्टोरी
1 फरवरी को चीन में लॉकडाउन होने के बाद भी हुवांग ने अस्पताल आना बंद नहीं किया। हुवांग हमेशा की तरह अस्पताल आती थीं और आईसीयू वार्ड के बाहर कीवी फ्रूट के साथ चिट्टी नर्स को देकर चली जाती थीं। एक लेटर में उन्होंने लिखा, 'डियर हसबैंड, मैं ठीक हूं। मेरी चिंता बिल्कुल भी मत करना। नर्स के ऑर्डर को सही तरीके से फॉलो करना ताकि तुम जल्दी से ठीक हो जाओ और पूरे परिवार के साथ समय बिता सको'। वहीं, आईसीयू वार्ड में पत्नी के खत मिलने के बाद सन भी उसे बड़े ही प्यार से पढ़ते थे। खत पढ़ने के बाद वो खत को मोड़कर अपने बेड के नीचे संभालकर रख लेते थे। करीब 8 सप्ताह एक दूसरे से दूर रहने के बाद पिछले गुरुवार को इस प्रेमी जोड़े की मुलाकात हुई। रोजाना की तरह हुवांग दोपहर 2 बजे आईसीयू के सामने आकर खड़ी हो गईं। हाथ में कीवी फ्रूट और लेटर था। इसके बाद हुवांग को फेस मास्क और प्रोटेक्टिव सूट पहनाकर अस्पताल के अंदर ले जाया गया। पति से मिलने के बाद उन्होंने सूट के ऊपर से ही उन्हें किस किया और लैटर भी थमा दिया। अस्पताल के स्टाफ का कहना है कि सन, हुवांग के प्यार की वजह से ही इतने मुश्किल वक्त से उबर पाए हैं। बता दें, हुवांग ने कुल 45 लेटर लिखे थे।

कमेंट करें
iT9Vl