comScore

UP Budget 2019 : सात शहरों को मेट्रो , गौ कल्याण के लिए 500 करोड़

February 07th, 2019 16:06 IST
UP Budget 2019 : सात शहरों को मेट्रो , गौ कल्याण के लिए 500 करोड़

हाईलाइट

  • गो कल्याण के लिए 500 करोड़ से ज्यादा का बजट स्वीकृत
  • वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल द्वारा प्र​स्तुत किया गया बजट
  • अवारा पशुओं की देखरेख के लिए 165 करोड़ रूपये का बजट

डिजिटल डेस्ट, लखनऊ। उत्तरप्रदेश में आज गुरूवार को योगी सरकार द्वारा तीसरा बजट पेश किया गया। इस बजट को उत्तरप्रदेश की विधानसभा में वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल द्वारा प्र​स्तुत किया गया। योगी सरकार का इस साल का बजट 4 लाख 70 हज़ार 684 करोड़ रुपए है, जो पिछले साल के बजट से 12 प्रतिशत ज्यादा है। इस साल के बजट की खास बात यह है कि सरकार ने गौ कल्याण के लिए 500 करोड़ से ज्यादा का बजट स्वीकृत किया है। मेरठ, वाराणसी, गोरखपुर, झाँसी और प्रयागराज मेट्रो के लिए 150 -150 करोड़ रूपये और आगरा-कानपूर के लिए 175-175 करोड़ का प्रावधान किया है।

बजट के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ मीडिया से रूबरू हुए और उन्होंने बताया कि इस बजट में किसान, महिला के साथ हर तबके का ख्याल रखा गया है। प्रदेश में अच्छी सड़कों के निर्माण के लिए 12.6 प्रतिशत की वृद्धि की गई तथा सिंचाई के लिए बजट में 11.62 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई। 

गौ कल्याण की बात की जाए तो यूपी सरकार ने अवारा पशुओं की देखरेख के लिए 165 करोड़ रूपये का बजट बनाया। गौशाला के रखरखाव और निर्माण के लिए 284 का बजट तथा शहरी क्षेत्र में गौशाला और आवारा पशुओं के शेल्टर के लिए 200 करोड़ का बजट बनाया गया। 

वहीं अन्य क्षेत्रों के लिए 
- बजट में अयोध्या के पर्यटन स्थलों के विकास के लिए 101 करोड़ रुपए
- संस्कृत शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए व पाठशालाओं को सहायता प्रदान करने के लिए 242 करोड़ तथा अनुदानित संस्कृत विद्यालय और डिग्री कॉलेजों को अनुदान प्रदान करने के लिए अन्य 30 करोड़ रुपए का बजट बनाया गया। 
- इस बजट में एक्सप्रेस वे निर्माण के लिए 3194 करोड़ का प्रावधान किया गया। 
- बंद पड़ी चीनी मिलों के लिए 50 करोड़ व पीपीपी मोड पर चलाने के लिए 25 करोड़ रुपए । 
- ‘वैदिक विज्ञान केन्द्र' की  स्थापना के लिए 16 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई। इसे वाराणसी के काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में स्थापित किया जाएगा। 
- इस बजट में मथुरा, वृंदावन के बीच ऑडिटोरियम के​ लिए 8 करोड़ 38 लाख व सार्वजनिक रामलीला स्थानों के लिए चारदीवारी के​ निर्माण के लिए 5 करोड़ रुपए  
- इसके अलावा बृज तीर्थ में अवस्थापना सुविधाओं के लिये 125 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई। 
- बजट 2019 में पर्यटन नीति के 70 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया। इसके अंतर्गत सभी पर्यटन स्थलों की देखरेख का काम किया जाएगा। 

कमेंट करें
40ljm