comScore

दिल्ली में कोरोना के 534 नए मामले, मौतों की संख्या अब 176

May 20th, 2020 16:54 IST
दिल्ली में कोरोना के 534 नए मामले, मौतों की संख्या अब 176

हाईलाइट

  • दिल्ली में कोरोना के 534 नए मामले, मौतों की संख्या अब 176

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली, 20 मई (आईएएनएस)। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना पॉजिटिव 534 नए मरीजों का पता चला है, जिससे बुधवार को कुल संक्रमितों की संख्या 11 हजार के पार पहुंच गई और मौतों की संख्या बढ़कर 176 हो गई।

मंगलवार को दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या, 10554 थी, जो बुधवार को बढ़कर 11,088 हो गई। बीते 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोरोना वायरस से और 10 लोगों की मौत हुई है।

कोरोना वायरस पर हेल्थ बुलेटिन जारी करते हुए दिल्ली सरकार ने कहा, दिल्ली में अभी तक कोरोना वायरस की जांच के लिए कुल 1ए50ए282 लोगों का टेस्ट किया गया है। इनमें से 11088 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इन कोरोना पॉजिटिव रोगियों में से 5192 रोगी अभी तक स्वस्थ हो चुके हैं। बीते 24 घंटे के दौरान ही 442 कोरोना रोगी स्वस्थ हुए हैं। दिल्ली में फिलहाल 5720 एक्टिव कोरोना रोगी हैं।

दिल्ली में कोरोना से पीड़ित 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के कुल 1571 व्यक्ति हैं। इनमें से अब तक तक 92 की मौत हो चुकी है। वहीं, 50 से 59 वर्ष उम्र वर्ग के 1704 कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों में से 47 की मौत हो चुकी है। सबसे अधिक 7813 कोरोना रोगी 50 वर्ष या उससे कम उम्र के हैं। इनमें से 37 व्यक्तियों की मौत हुई है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, दल्ली में 11 दिनों के भीतर कोराना के केस दोगुना हुए हैं। अगर शनिवार का आंकड़ा देखा जाए तो लगभग 4 से 4.5 प्रतिशत ग्रोथ रेट है। ग्रोथ रेट 4.5 प्रतिशत के हिसाब से तो केस के दोगुना होने की दर 18 दिन ेमें बनती है। लेकिन हम देखते हैं कि जितने भी केस आज हैं, इससे आधे कितने दिन पहले थे। इससे आधे केस 11 दिन पहले थे। इसलिए फिलहाल दिल्ली में केस दोगुना होने की दर करीब 11 दिन है।

दिल्ली में कोरोना के 157 मरीज आईसीयू में हैं, जबकि इनमें से 23 लोग वेंटिलेटर पर हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार उन सभी इलाकों को हॉटस्पॉट मानकर सील किया है, जहां कोरोना के 3 से अधिक मामले एक साथ पाए गए हैं।

दिल्ली में अब कुल 69 कोरोना कंटेनमेंट जोन हैं। इन इलाकों को दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस की मदद से पूरी तरह सील कर दिया है। किसी भी कोरोना कंटेनमेंट जोन या कोरोना हॉटस्पॉट में बाहर का कोई व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता। इसी तरह इन कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोग भी इस इलाके से बाहर नहीं आ सकते। ऐसा इसलिए किया गया है, ताकि कोरोना का संक्रमण इन क्षेत्रों से निकलकर अन्य इलाकों में न फैल सके।

केस बढ़ने के बावजूद कंटेनमेंट की संख्या नहीं बढ़ने के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री जैन ने कहा, काफी ऐसे मामले आ रहे हैं, जैसे हॉस्पिटल व बीएसएफ के हैं। पुलिस के बहुत सारे केस आ रहे हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य कर्मचारियों के भी काफी केस आए हैं और वे अस्पतालों में भर्ती हैं। केस का जो भी नया एरिया पता चलेगा, उसे सीधे कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया जाएगा।

कमेंट करें
CjDXx