comScore

सेना को दोहरी सफलता: राजौरी में डिफ्यूज किया बम, चार आतंकियों को पकड़ा

November 20th, 2019 03:30 IST
सेना को दोहरी सफलता: राजौरी में डिफ्यूज किया बम, चार आतंकियों को पकड़ा

हाईलाइट

  • मंगलवार सुबह 9 बजे बम निरोधक दस्ते ने IED को डिफ्यूज किया
  • दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के 4 आतंकियों को गिरफ्तार किया

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। भारतीय सेना को मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में दोहरी सफलता मिली। पहली यहां राजौरी में जम्मू-पूंछ हाईवे पर IED बरामद किया। बम निरोधक दस्ते ने IED को डिफ्यूज कर बड़ा हादसा टाल दिया। वहीं दूसरी ओर दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में विस्फोट की एक घटना में संलिप्त जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के चार सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। 

सुरक्षाबलों ने बताया कि सुबह 9 बजे के करीब इस आईईडी को देखा। इसके बाद तत्काल बम निरोधक दस्ते को मौके पर बुलाया गया। दस्ते ने आईडी को डिफ्यूज कर दिया। बम डिफ्यूज करने में करीब 3 घंटे का वक्त लगा। इसके चलते इस दौरान पूरे इलाके में आवाजाही रोक दी गई थी। बम डिफ्यूज करने के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन भी चलाया। सेना इलाके में आतंकियों की तलाश कर रही है। बता दें कि इससे पहले भी कुछ महीने पहले इसी जगह से एक आईडी को बरामद कर उसे डिफ्यूज किया था। इससे यह जाहिर होता है के यहां आतंकी गतिविधियां हो रही हैं।

जैश-ए-मोहम्मद के 4 आतंकवादी गिरफ्तार
दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में विस्फोट की एक घटना में संलिप्त आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के चार सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पुलवामा विस्फोट की जांच के दौरान पुलिस ने एक व्यक्ति शारिक अहमद की संलिप्तता पाई, जो लगातार विदेश स्थित आतंकवादी से बात कर रहा था और क्षेत्र में आतंकी हमले की योजना बना रहा था।

अहमद ने अपने तीन आतंकवादी सहयोगियों की मदद से हमले की साजिश रची और पुलवामा के अरहाल क्षेत्र में आतंकी हमले को अंजाम दिया। तीनों आतंकवादियों की पहचान आकिब अहमद, आदिल अहमद और ओवैस अहमद के रूप में हुई। मामले में जांच से खुलासा हुआ कि चारों आतंकवादियों का संबंध जैश-ए-मोहम्मद से है और क्षेत्र में हमले की साजिश रचने और इसे अंजाम तक पहुंचाने में सक्रिय भूमिका निभाई। आतंकवादियों के पास से आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है।

कमेंट करें
lv0fO