नई दिल्ली: आयुष मंत्री सोनोवाल ने भारत में की सूर्य नमस्कार की शुरूआत

January 14th, 2022

हाईलाइट

  • पहला वैश्विक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम का आयोजन किया गया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयुष मंत्रालय के तत्वावधान में शुक्रवार को पहला वैश्विक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम का आयोजन हुआ। मंत्रालय के मुताबिक देश-दुनिया के एक करोड़ से ज्यादा लोगों ने आज कोविड नियमों का पालन करते हुए अपने-अपने स्थानों पर सूर्य नमस्कार किया। भारत के साथ इटली, अमेरिका, सिंगापुर, श्रीलंका और जापान जैसे देशों में लोगों ने उत्साह के साथ सूर्य नमस्कार किया। भारत में कार्यक्रम की शुरूआत केन्द्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल और राज्य मंत्री डॉ मुंजपरा महेन्द्रभाई ने वर्चुअल तरीके से की।

बाबा रामदेव और श्री श्री की भी रही सहभागिता

इस मौके पर बाबा रामदेव, आचार्य बालकृष्ण, श्री श्री रविशंकर, सद्गुरू जग्गी वासुदेव और देश विदेश से कई बड़ी हस्तियां जुड़ीं। इस अवसर पर सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि मकर संक्रांति के पर्व पर सूर्य अपना पथ बदलकर उत्तरायण में प्रवेश करता है, जिसे भारतीय परंपरा में शुभ माना जाता है। इसलिए भारत में सूर्य की उपासना भक्ति-भावना से की जाती है। उन्होने कहा कि योग परंपरा में सूर्य आराधना को सूर्य नमस्कार के जरिए लोगों के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही देश भर में अनेक सरकारी और गैर-सरकारी संस्थाओं, विभिन्न मंत्रालयों विभागों से जुड़े लाखों लोगों ने सूर्य नमस्कार किया।