दैनिक भास्कर हिंदी: इंदौर: मौत की गुत्थी सुलाझाई तो सामने आया फिल्म ‘दृश्यम’ का रोल

January 15th, 2019

हाईलाइट

  • कांग्रेस कार्यकर्ता की 22 साल की बेटी ट्विकंल डागरे की मौत की गुत्थी सुलझ चुकी है।
  • इंदौर पुलिस ने भाजपा नेता जगदीश करोतिया और उसके तीन बेटों समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है।
  • पुलिस ने कहा कि ट्विकंल के 65 वर्षीय जगदीश के साथ अवैध संबंध थे।

डिजिटल डेस्क, इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में एक कांग्रेस कार्यकर्ता की 22 साल की बेटी ट्विकंल डागरे की मौत की गुत्थी सुलझ गई है। इंदौर पुलिस ने रविवार को इस हत्याकांड में भाजपा नेता जगदीश करोतिया और उसके तीन बेटों समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा कि ट्विकंल के 65 वर्षीय जगदीश के साथ अवैध संबंध थे। DIG इंदौर ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि ट्विंकल ने करोतिया के नाम का टैटू अपने हाथ में बनवा रखा था। इसको लेकर दोनों के बीच अनबन हुई और करोतिया ने हत्या की साजिश रच डाली। इसमें सबसे दिलचस्प बात यह रही कि आरोपियों ने ट्विंकल की हत्या का षड्यंत्र दृश्यम फिल्म देखकर रचा था।

 

 

इंदौर के DIG हरि नारायणचारी मिश्रा ने कहा, 'हमने आरोपियों से पूछताछ के लिए ब्रेन इलेक्ट्रिकल ओस्सिलेशन सिग्नेचर टेस्ट इस्तेमाल किया है। पुलिस को खबर मिली थी कि इन लोगों ने क्राइम स्पॉट के करीब किसी चीज को दफन किया था। आरोपियों ने यह जानकारी साजिश के तहत लीक की थी। पुलिस ने जब उस जगह की छानबीन की, तो वहां कुत्ते की लाश मिली।'

DIG ने बताया कि 'आरोपियों ने इससे पहले ही (16 अक्टूबर, 2016) ट्विंकल को गला घोंटकर मार दिया था और उसके शरीर को जला दिया था। इसके बाद निगमकर्मियों से कहा कि एक पार्षद का कुत्ता मर गया है। इसके लिए गड्ढ़ा खोदना पड़ेगा। वहां उन्होंने शव को जलाया और दो दिन बाद हड्डियों की राख को बोरे में भरकर नाले में बहा दिया। इतना ही नहीं इन्होंने पुलिस को भटकाने के लिए ट्विंकल के फोन का भी इस्तेमाल किया।'

DIG ने बताया, 'आरोपियों से पूछताछ के दौरान पता चला कि उन्होंने हत्या करने से पहले दृश्यम फिल्म देखी थी और वही देखकर हत्या करने के लिए राजी हुए थे। जिस प्रकार फिल्म में कुत्ते के शव को पुलिस को भटकाने के लिए इस्तेमाल किया गया, उसी प्रकार करोतिया और उनके बेटों ने भी कुत्ते के शव को दफनाकर पुलिस को भटकाने की कोशिश की।' 

 

 

DIG ने बताया, 'ट्विंकल के करोतिया से संबंध थे और इसको लेकर उनके परिवार में काफी विवाद हो रहे थे। ट्विंकल जगदीश के साथ रहना चाहती थी। इसी बात को लेकर करोतिया की पत्नी और ट्विकंल के बीच झगड़ा होता रहता था। जगदीश को भी अपने राजनीतिक करियर खराब होने की चिंता थी। इससे परेशान होकर करोतिया और उनके बेटों ने इस घटना को अंजाम दिया।'


 

खबरें और भी हैं...