दैनिक भास्कर हिंदी: दिग्विजय सिंह का बयान- 'हिन्दुत्व' शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नहीं, सनातन धर्म पर गर्व है

April 21st, 2019

हाईलाइट

  • कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर बोला हमला।
  • हिंदू आतंकवाद कहने वाले शख्स को बीजेपी ने बनाया केंद्रीय मंत्री।
  • दिग्विजय ने कहा, हिन्दुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में ही नहीं है।

डिजिटल डेस्क, भोपाल। कांग्रेस के दिग्गज नेता और भोपाल से लोकसभा प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने हिंदू आतंकवाद और हिन्दुत्व को लेकर बड़ा बयान दिया है। दिग्गज ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा है कि, हिंदू आतंकवाद कहने वाले शख्स को बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री बनाया। वहीं उन्होंने ये भी साफ कहा कि, हिन्दुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में ही नहीं है। बाद में अपने इस बयान पर सफाई देते हुए दिग्विजय ने ट्वीट में कहा, मुझे सनातन हिंदू धर्म पर गर्व है।

दरअसल शनिवार को भोपाल से नामांकन दाखिल करने के बाद दिग्विजय सिंह ने ये बातें कहीं। जब पत्रकारों ने उनसे हिन्दुत्व और हिन्दू आतंकवाद पर सवाल पूछे तो उन्होंने कहा, हिन्दुत्व शब्द उनकी डिक्शनरी में है ही नहीं। दिग्विजय ने कहा, आप लोग हिन्दुत्व शब्द का उपयोग क्यों करते हैं? हिन्दुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नहीं।

वहीं बीजेपी पर हमला बोलते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा, उसने (बीजेपी) ऐसे व्यक्ति को केंद्रीय मंत्री बना दिया, जिसने ‘हिंदू टेरर’ शब्द का आधिकारिक तौर पर बयान दिया था। उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से इस मसले पर जवाब देने की भी मांग की। दिग्विजय ने ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द के लिए बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा, जिस व्यक्ति ने गृह सचिव के तौर पर हिंदू टेरर शब्द का आधिकारिक तौर पर बयान दिया, उसको बीजेपी ने लोकसभा का टिकट दिया और केंद्र में मंत्री बनाया।

हालांकि बाद में दिग्विजय सिंह ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कई ट्वीट किए। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट में लिखा- मैं हिंदू धर्म को मानता हूं, जो हज़ारों सालों से दुनिया को जीने की राह सिखाता आया है। मैं अपने धर्म को हिंदुत्व के हवाले कभी नहीं करूंगा, जो केवल और केवल राजनीतिक सत्ता पाने के लिए संघ का षड्यन्त्र है। मुझे अपने सनातन हिंदू धर्म पर गर्व है जो वसुदैव क़ुटुम्बकम की बात कहता है।

दिग्विजय ने ट्वीट में कहा, मेरा हिंदू धर्म मेरी आस्था है। इसीलिए मैंने अपनी नर्मदा परिक्रमा का प्रचार नहीं किया, राघोगढ़ मंदिर की परम्पराओं का कभी प्रचार नहीं किया, दशकों गोवर्धन परिक्रमा और पंढरपुर दर्शन का प्रचार नहीं किया। भाजपा के लोग कब से मेरे और ईश्वर के बीच आ गए, सर्टिफ़िकेट देने वाले एजेंट बन गए?

आरएसएस पर हमला बोलते हुए उन्होंने लिखा, संघ का हिंदुत्व जोड़ता नहीं, तोड़ता है। अपने धर्म का राजनैतिक अपहरण मैं कभी नहीं होने दूंगा। हमारे लिए हिंदू धर्म आस्था का विषय है, भगवान से हमारा निजी रिश्ता है।

 

 

 

खबरें और भी हैं...