दैनिक भास्कर हिंदी: कम हुआ कोरोना का असर: बीते 24 घंटे में मिले 52 हजार नए केस, 77 हजार ठीक हुए, 1,423 मरीजों की मौत

June 21st, 2021

हाईलाइट

  • देश में 24 घंटे में मिले कोरोना के 52 हजार 956 केस
  • देश में 24 घंटे में 77 हजार 967 कोरोना मरीज ठीक हुए
  • देश में 24 घंटे में 1 हजार 423 मरीजों की मौत हुई है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस की दूसरी लहर का असर कम होने लगा है। नए केस में कमी दर्ज की जा रही है। रिकवरी रेट बढ़ रहा है। एक्टिव केस घटने लगे हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 52 हजार 956 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, 77 हजार 967 मरीज ठीक हुए हैं। इस दौरान 1 हजार 423 मरीजों की मौत हुई है।

देश में अब तक 2 करोड़ 99 लाख 34 हजार 361 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। जिनमें 2 करोड़ 88 लाख 36 हजार 529 मरीजों को रिकवर किया जा चुका है। हालांकि, 3 लाख 88 हजार 164 मरीज को बचाया नहीं जा सका। फिलहाल देश में 6 लाख 97 हजार 893 मरीजों का इलाज देश की अलग-अलग अस्पतालों में किया जा रहा है। ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट से सुबह 9 बजे  लिए गए हैं। 

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के मुताबिक, भारत में कल कोरोना वायरस के लिए 13 लाख 88 हजार 699 सैंपल टेस्ट किए गए, कल तक कुल 39 करोड़ 24 लाख 7 हजार 782 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में 88 दिनों बाद कोरोना के नए मामले कम रिपोर्ट हुईं। रिकवरी रेट बढ़कर 96.36% हो गया है और दैनिक पॉजिटिविटी रेट 3.83% है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 30,39,996 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 28,00,36,898 हुआ।

देश में कोरोनवायरस की स्थिति

  • बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए: 52,956
  • बीते 24 घंटे में कुल ठीक हुए: 77,967
  • बीते 24 घंटे में कुल मौतें: 1423
  • अब तक कुल संक्रमित हो चुके: 2.99 करोड़
  • अब तक ठीक हुए: 2.88 करोड़
  • अब तक कुल मौतें: 3.88 लाख
  • अभी इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या: 6.97 लाख
     

देश में दस्तक देगी कोरोना की तीसरी लहर- एम्स डायरेक्टर गुलेरिया
भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने चेतावनी जारी की है। उन्होंने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर अगले 7 से 8 हफ्तों के बीच देश में दस्तक देगी। इस बार बच्चों पर इसका बड़ा असर देखने को मिलेगा। डॉ गलेरिया ने कहा कि अगर लोगों ने कोरोना गाइड लाइन का ठीक से पालन नहीं किया और बाजारों या टूरिस्ट स्पॉट पर लगने वाली भीड़ को नहीं रोका गया तो परिणाम बुरे होंगे। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अभी तक की रिसर्च में ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं कि कोरोना की तीसरी लहर बड़ों से ज्यादा बच्चों को प्रभावित करेगी। इससे पहले भारत के महामारी विशेषज्ञों ने पहले सितंबर-अक्टूबर तक कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका जताई थी। 

10 राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां
देश के 10 राज्यों में पूर्ण लॉकडाउन जैसी पाबंदियां हैं। इनमें पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, कर्नाटक, तमिलनाडु, मिजोरम, गोवा और पुडुचेरी शामिल हैं। यहां पिछले लॉकडाउन जैसे ही कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं।

21 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन
देश के 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन है। यानी यहां पाबंदियां तो हैं, लेकिन छूट भी है। इनमें केरल, बिहार, दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, मेघालय, नगालैंड, असम, मणिपुर, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश और गुजरात शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...