दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली में फिर लागू होगी ऑड-ईवन स्कीम, गडकरी बोले- इसकी जरूरत नहीं

September 13th, 2019

हाईलाइट

  • सीएम अरविंद केजरीवाल ने ऑड-ईवन स्कीम फिर से लागू करने का ऐलान किया
  • प्रदूषण से निपटने के लिए सात पॉइंट का ऐक्शन प्लान भी बनाया गया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केजरीवाल सरकार ने एक बार फिर दिल्ली में गाड़ियों को लेकर ऑड-ईवन पॉलिसी लागू करने का ऐलान किया है। 4 से 15 नवंबर के बीच राजधानी में ऑड-ईवन व्यवस्था लागू होगी। ऑड-ईवन स्कीम के तहत दिल्ली में 4, 6, 8, 10, 12 और 14 नवंबर को ईवन नंबर वाली गाड़ियां चलेंगी, जबकि 5, 7, 9, 11, 13 और 15 नवंबर को ऑड नंबर वाली गाड़ियां चलेंगी। इसके अलावा सरकार ने प्रदूषण से निपटने के लिए एक्शन प्लान भी बनाया है, जिसके तहत पॉल्यूशन मास्क भी बांटे जाएंगे।

राजधानी में प्रदूषण से निपटने के लिए केजरीवाल सरकार द्वारा लिए गए इस फैसले को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जरूरी नहीं बताया है। नितिन गडकरी ने कहा, ऑड-ईवन पॉलिसी लागू करने की जरूरत नहीं है। रिंग रोड बनने से प्रदूषण में काफी कमी आई है। हमारी स्कीमों से दिल्ली अगले 2 सालों में प्रदूषण मुक्त हो जाएगी।

मुख्यमंत्री केजरीवाल केजरीवाल शुक्रवार को कहा, नवंबर में दिल्ली के आस-पास के राज्यों में पराली जलाई जाती है, जिसकी वजह से दिल्ली गैस चेंबर बन जाता है। इसलिए फिर से ऑड-ईवन फॉर्मूले को लागू करने का फैसला किया गया है। केजरीवाल ने कहा, हम प्रदूषण रोकने के लिए केंद्र और पंजाब सरकार के साथ अपने स्तर पर काम कर रहे हैं, लेकिन दिल्ली सरकार हाथ पर हाथ धरकर नहीं बैठ सकती है। पिछले वर्षों में नवंबर के महीने में ऑड-ईवन नियम को लागू करने से राज्य में प्रदूषण काफी कम हुआ है। दिल्ली एक ऐसा राज्य है जहां प्रदूषण 25 फीसदी कम हुआ है, सरकार इसे और भी कम करने की कोशिश कर रही है।

केजरीवाल ने ये भी कहा कि, हम सब चाहते हैं ट्रैफिक सुधरे और एक्सिडेंट बंद हों। नया नियम लागू होने से दिल्ली के ट्रैफिक में सुधार आया है। हमारी इस पर नजर बनी हुई है।

राजधानी को पॉल्यूशन फ्री करने के लिए केजरीवाल सरकार ने सात पॉइंट का एक एक्शन प्लान भी बनाया है। इसके तहत केजरीवाल ने प्रदूषण मुक्त दिवाली, ऑड-ईवन पॉलिसी, पॉल्यूशन मास्क का वितरण, पराली और कूड़े के जलाने पर रोक, हॉटस्पॉट ऐक्शन प्लान, डस्ट पॉल्यूशन कंट्रोल और दिल्ली ट्री चैलेंज प्रोग्राम्स की घोषणा की।

सीएम केजरीवाल ने कहा, इसे लेकर हमने जनता से सुझाव मांगे और विशेषज्ञों से चर्चा भी की थी। दीवाली पर पटाखे की वजह से ज्यादा धुआं होता है, ऐसे में दिल्ली के लोगों से अपील है कि, पटाखे ना जलाएं, यह सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर भी है। प्रदूषण से संबंधित शिकायतों का निपटारा करने के लिए वॉररूम भी बनाया जा रहा है। दिल्ली में पर्यावरण मार्शल की भी नियुक्ति की जाएगी।

अरविंद केजरीवाल ने बताया, करीब 1200 ई-मेल और कई विशेषज्ञों से सलाह मशविरे के बाद सरकार ने प्रदूषण से निपटने के लिए योजना बनाई है। दिल्ली सरकार सामूहिक तौर पर प्रदूषण-मुक्त दीवाली मनाएगी। अक्टूबर से लोगों को मुफ्त मास्क उपलब्ध कराएगी। बस ऐग्रीगेटर पॉलिसी लाई जाएगी, इलेक्ट्रिक वीइकल पॉलिसी को जल्द ही नोटिफाई किया जाएगा। 

उन्होंने कहा, दिल्ली में 12 जगहों पर काफी प्रदूषण है, ये हॉटस्पॉट हैं, यहां पर विशेष रूप से काम किया जाएगा। प्रदूषण पर लोगों को जागरूक करने के लिए स्कूलों में अभियान चलेगा। पेड़ लगाने के लिए भी लंबा अभियान चलाया जाएगा, जिसमें पेड़ों की होम डिलिवरी की जाएगी।