comScore

इराक और कुवैत भेजी जा रही थीं नेपाल की 16 लड़कियां, दिल्ली में रेस्क्यू

July 25th, 2018 12:14 IST

हाईलाइट

  • दिल्‍ली महिला आयोग ने राजधानी के मुनिरका इलाके में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए 16 लड़कियों को बचा लिया है।
  • मानव तस्कर इन सभी लड़कियों को बहला फुसलाकर नेपाल से लाए थे।
  • इन सभी लड़कियों को कुवैत और इराक भेजने की तैयारी थी।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्‍ली महिला आयोग ने राजधानी के मुनिरका इलाके में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए 16 लड़कियों को बचा लिया है। मानव तस्कर इन सभी लड़कियों को बहला फुसलाकर नेपाल से लाए थे, जिन्हें कुवैत और इराक भेजने की तैयारी थी। रेस्क्यू ऑपरेशन टीम के साथ दिल्‍ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल स्वंय गईं थीं। इसी दौरान खुलासा हुआ है कि यह मानव तस्कर गैंग 15 दिन पहले भी करीब 7 लड़कियों को कुवैत और इराक भेज चुका है।

पूछताछ में लड़कियों ने अपनी पूरी कहानी बयां की है। उन्होंने बताया है कि हमें बहला-फुसलाकर नेपाल से यहां लाया गया है। अब यहां से हम सभी को कुवैत और इराक भेजने की तैयारी थी। लड़कियों ने बताया है कि इन सभी के पासपोर्ट दलालों ने अपने पास रख लिए हैं।

खुलासा हुआ है कि मानव तस्करी का यह नेटवर्क लगभग 8 महीने पहले से ही चल रहा है। यह नेपाल की लड़कियों को बड़े सपने दिखाकर उन्हें बहलाता-फुसलाता है और फिर भारत के रास्ते इराक, कुवैत समेत अन्य देशों में भेज दिया जाता है। बता दें कि बचाई गई सभी 16 लड़कियों को दिल्ली में मुनिरका के एक छोटे से कमरे में बंद करके रखा गया था।

 

घटना मंगलवार देर रात की है। मुनिरका के घर में लड़कियों को बंधक बनाकर रखने की गुप्त सूचना दिल्‍ली महिला आयोग को मिली थी। आयोग की अध्‍यक्ष स्‍वाति मालीवाल ने खुद रात करीब 1.30 बजे पुलिस टीम के साथ घर पर छापा मारा। इस दौरान घर से 16 नेपाली लड़कियों को छुड़ाया गया है। लड़कियों से पूछताछ में पता चला है कि इन सभी को कुछ दिन पहले ही नेपाल से लाया गया था और विदेशों में भेजने की तैयारी थी।

कमेंट करें
uPznD