दैनिक भास्कर हिंदी: ईडी ने बैंक धोखाधड़ी मामले में गुजरात की कंपनी के निदेशक को किया गिरफ्तार

October 15th, 2020

हाईलाइट

  • ईडी ने बैंक धोखाधड़ी मामले में गुजरात की कंपनी के निदेशक को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धनशोधन (मनी लांड्रिंग) के आरोप में अहमदाबाद स्थित जैव प्रौद्योगिकी कंपनी की निदेशक को गिरफ्तार किया है।

प्रवर्तन निदेशालय ने पेंटियम इन्फोटेक लिमिटेड और हीरम बायोटेक लिमिटेड की निदेशक निकेता बलदेवभाई दवे को धनशोधन-रोधी कानून (पीएमएलए) के तहत गिरफ्तार किया है। ईडी ने यह गिरफ्तारी कथित रूप से एक सहकारी बैंक के साथ हुई धोखाधड़ी से जुड़े मामले में की है। एक स्थानीय अदालत ने दवे को चार दिन की ईडी हिरासत में भेज दिया है।

गुजरात पुलिस की सीआईडी-अपराध शाखा ने सबसे पहले मई, 2009 में इस संबंध में मामला दर्ज किया था। केंद्रीय जांच एजेंसी ने बयान में कहा कि दवे और इन कंपनियों के एक निदेशक प्रतीक आर. शाह और अन्य ने अहमदाबाद के पीपल्स को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड (एपीसीबीएल) के साथ 25.25 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है।

एजेंसी ने कहा, जांच में पाया गया है कि शाह और दवे ने एपीसीबीएल में एफडीओडी (एफडी के एवज में ओवरड्राफ्ट) ऋण खाता खोला। इन कंपनियों ने भुगतान में चूक की, जिससे बैंक को 25.25 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

ईडी ने एक अधिकारी ने कहा कि इसके बाद एपीसीबीएल में प्रत्येक खाते में 50 लाख रुपयों के साथ 20 आईबीएल खाते भी शाह द्वारा अपने कार्यालय के कर्मचारियों, कंपनियों या सहयोगियों के नाम से खोले गए।

उन्होंने कहा, इसके अलावा दवे ने निदेशक/पार्टनर के रूप में 20 में सात कंपनियों जिनमें एस.जे. सिक्योरिटीज लिमिटेड, पायनियर मर्के टाइल लिमिटेड, विटाले बायो साइंस लिमिटेड, सातरक रियल एस्टेट लिमिटेड, जुपिटर बिजनेस लिमिटेड, लक्ष्य सिक्योरिटीज एंड क्रेडिट होल्डिंग लिमिटेड और अरिहंत ज्वैलर्स शामिल हैं, उनके लिए ऋण प्राप्त करने के लिए आवेदन किया।

एकेके/एसजीके