• Dainik Bhaskar Hindi
  • National
  • Madhya Pradesh Honeytrap Scandal, Honeytrap Scandal upadate, Bollywood actress in honeytrap Scandal of Madhya Pradesh

दैनिक भास्कर हिंदी: हनीट्रैप: MP की सियासत में सुरा और सुंदरी, अब बॉलीवुड एक्ट्रेस के नामों का खुलासा

September 26th, 2019

हाईलाइट

  • हनीट्रैप मामले में सामने आए बॉलीवुड एक्ट्रेस के नाम
  • एसआईटी की टीम कर रही है मामले की जांच
  • आईएएस, आईपीएस और नेताओं को फंसाने का करती थी काम

डिजिटल डेस्क, इंदौर/भोपाल। ये कहना गलत नहीं होगा कि सियासत में सुरा और सुंदरी का हमेशा बोलबाला रहा है। सुरा हो या सुंदरी देखते ही अक्सर नेताओं और रसूखदारों का मन मचल जाता है। मध्य प्रदेश का हनीट्रैप मामला कुछ ऐसा ही मोड़ लेता जा रहा है।आईएएस-आईपीएस अफसरों, राज नेताओं के बाद अब बॉलीवुड की बी-ग्रेड एक्ट्रेस के नाम भी सामने आ रहे हैं। हनी ट्रैप का खुलासा होने के बाद मध्य प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है।

एसआईटी की टीम प्याज की परतों की तरह इस मामले को खोलती जा रही है। नया खुलासा ये हुआ है कि हनी ट्रैप के इस सिंडीकेट में करीब 40 कॉल गर्ल्स थीं। जिनमें बॉलीवुड की कुछ हीरोइनों के नाम भी सामने आ रहे हैं। जो ना सिर्फ नेताओं और अफसरों के करीब गईं बल्कि बेहद शातिराना तरीके से उनकी वीडियो भी बना ली। इनकी दूसरी टीम ने उन्हीं पिक्चरों को अपने शिकार से पैसे ऐंठने और उनसे सरकारी काम निकलवाने का ज़रिया बना लिया। बॉलीवुड की बी-ग्रेड अभिनेत्रियां भी कथित रूप से शामिल रही हैं। इन्होंने राज्य के एक पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व राज्यपाल समेत कई अफसरों व नेताओं को अपने जाल में फंसाया।

मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी के सूत्रों ने बताया कि अभी तक अफसरों व नेताओं की आपत्तिजनक अवस्थाओं की 92 वीडियो क्लिप मामले में गिरफ्तार पांच महिलाओं के कई मोबाइल फोनों और दो लैपटॉप से बरामद हुई हैं। इस रैकेट की किंगपिन श्वेता स्वप्निल जैन ने राज्य सरकार के महत्वपूर्ण विभागों को संभालने वाले अफसरों व नेताओं के हनीट्रैप के लिए बड़ी कॉल ग‌र्ल्स को अपने साथ जोड़ा था। इन हीरोइनों ने सियासत के बड़े बड़े दिग्गजों की नब्ज़ को दबोच रखा है। इसमें सिर्फ सियासतदान ही नहीं है बल्कि आला ब्यूरोक्रेट भी शामिल हैं।

हनीट्रैप केस में पकड़ी गई श्वेता इन कॉल ग‌र्ल्स को सुविधानुसार किसी गेस्ट हाउस या पांच सितारा होटल में किसी अफसर या नेता के पास भेजती थी। वहां किसी गुप्त मोबाइल या कैमरे से उस अफसर या नेता की कॉल गर्ल के साथ आपत्तिजनक अवस्था का वीडियो बना लिया जाता था। जब कोई अफसर या मंत्री किसी सरकारी काम से मुंबई या दिल्ली जाते थे तो वहां उन्हें उनकी मांग के अनुसार मॉडल व बॉलीवुड अभिनेत्रियां भी उपलब्ध कराई जाती थीं।

एमपी की सियासत में भूचाल लाने वाले इस हनी ट्रैप कांड में शामिल हसीनाओं की मोडस ऑपरेंडी को समझना ज़रूरी है। क्योंकि इसी में इस सिंडिकेट का राज़ भी छुपा है और बाकियों के लिए सबक भी. जो हसीनाएं सियासत और नौकरशाही के आला लोगों के कमरे तक पहुंच जाएं वो सिर्फ खूबसूरत ही नहीं हो सकतीं बल्कि उनका स्मार्ट होना भी ज़रूरी था।  ये अपने शिकार को जाल में फंसाने में पूरी एहतियात बरतती थीं. इनके पास होटलों में रुकने के लिए फर्जी आईडीज़ थी। ये खुलासा तो खुद पुलिस भी कर चुकी है। हालांकि पुलिस इन दावों की पूरी तरह पुष्टि तो नहीं कर रही है, मगर कैमरा बंद होते ही इस तरह की बातें आ रही हैं। मुमकिन है कि जल्द ही इस मामले में कुछ हीरोइनों के नाम भी सामने आ जाएं। ताकि ये साफ हो जाए कि पर्दे के पीछे से आखिर ये सिंडीकेट चला कौन रहा है। 

 

खबरें और भी हैं...