comScore

MP Political Crisis: बागी विधायकों से मिलने पर अड़े दिग्गी, कहा- गुप्त नहीं खुलेआम करूंगा मुलाकात

MP Political Crisis: बागी विधायकों से मिलने पर अड़े दिग्गी, कहा- गुप्त नहीं खुलेआम करूंगा मुलाकात

हाईलाइट

  • बेंगलुरु से कांग्रेस के बागी विधायकों से मिलने पर अड़े दिग्विजय सिंह
  • दिग्विजय सिंह ने कहा, वह विधायकों से गुप्त रूप से नहीं बल्कि खुलेआम मुलाकात करेंगे

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह बेंगलुरु में विधायकों से मुलाकात न कराए जाने पर धरने पर बैठ गए, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। हालांकि दिग्विजय सिंह ने ये साफ कहा कि वह विधायकों से गुप्त रूप से नहीं बल्कि खुलेआम मुलाकात करेंगे।

भाजपा ने किया लोकतंत्र का अपहरण
दिग्विजय सिंह ने बेंगलुरु पहुंचने के बाद ट्वीट कर कहा,मैं बेंगलुरु में अपने विधायकों से मिलने आया हूं। कर्नाटक पुलिस हमें मिलने नहीं दे रही है। मैं गांधीवादी हूं, निहत्था हूं। उनकी सुरक्षा के लिए कोई खतरा नहीं हूं। मैं गुप्त रूप से नहीं, खुलेआम मिलने आया हूं, लेकिन भाजपा उन्हें तालाबंद रखना चाहती है और लोकतंत्र का अपहरण कर लिया है।

उन्होंने कहा, बेंगलुरु में भाजपा की सरकार है। यहां की पुलिस भाजपा सरकार के अधीन है। मैं यहां गांधीवादी तरीके से अपने विधायकों से मिलने आया हूं। मुझे तो भाजपा के राज में भी, उनकी पुलिस के बीच भी डर नहीं लग रहा है। लेकिन भाजपा नेता कह रहे हैं कि विधायकों को डर है। तो डर किससे है? खुद भाजपा से न?

आरिफ मसूद, कांतिलाल भूरिया सहित कई कांग्रेस नेता पहुंचे बेंगलुर
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह चार्टर विमान से राज्य के कांग्रेस के पांच से ज्यादा नेताओं के साथ बेंगलुरु पहुंचे और उन्होंने वहां के एक रिसार्ट में पहुंचकर कांग्रेस के उन विधायकों से मुलाकात करने की कोशिश की जो पार्टी से बगावत कर चुके हैं। सिंह के साथ राज्य सरकार के मंत्री जीतू पटवारी, तरुण भनोत, विधायक कुणाल चौधरी, आरिफ मसूद, कांतिलाल भूरिया भी हैं। इन कांग्रेस नेताओं का कहना है, सिंह राज्यसभा के उम्मीदवार हैं और अपने विधायकों से मिलने आए हैं, मगर उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है।

विधायकों से मिलने पर अड़े दिग्गी
दिग्विजय सिंह का कहना है, बेंगलुरु से विधायकों से मिले बगैर वापस नहीं लौटेंगे, संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि उनकी पांच विधायकों से बात हुई है, जो अपने आप को बंधक बनाए जाने की बात कह रहे हैं, मगर बेंगलुरु पुलिस विधायकों से मिलने नहीं दे रही है।

22 में से 6 विधायकों के इस्तीफे हो चुके हैं मंजूर 
गौरतलब है कि कांग्रेस के 22 विधायकों ने बगावत कर इस्तीफा दे दिया है, इन विधायकों में से 6 के इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष मंजूर कर चुके हैं और बीते एक सप्ताह से ज्यादा समय से वे बेंगलुरु में है। कांग्रेस का आरोप है कि इन विधायकों को भाजपा ने बंधक बना रखा है। बता दें कि, मध्य प्रदेश राजनीतिक संकट पर शीर्ष अदालत की सुनवाई से पहले दिग्विजय सिंह बुधवार अल सुबह बेंगलुरु पहुंचे और रामदा होटल जाने की कोशिश की, जहां कांग्रेस के बागी विधायक ठहरे हुए हैं। हालांकि, दिग्विजय को उस होटल में जाने से रोक दिया गया जिसके बाद वह धरने पर बैठ गए। अब बेंगलुरु पुलिस ने उन्हें एहतियातन हिरासत में ले लिया है। शहर के उत्तरी उपनगर के रिसॉर्ट और उसके आसपास भारी सुरक्षा तैनात की गई है। 

MP Floor test Live: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, बेंगलुरु में हिरासत में लिए गए दिग्विजय सिंह भूख हड़ताल पर

कमेंट करें
hf6cO