दैनिक भास्कर हिंदी: बच्चों से नारे लगवाने पर फंसी प्रियंका, बाल संरक्षण आयोग ने मांगा जवाब 

May 3rd, 2019

हाईलाइट

  • प्रियंका गांधी को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग का नोटिस
  • प्रियंका पर बच्चों से पीएम को अपशब्द बुलवाने का आरोप
  • बच्चों ने प्रियंका के सामने पीएम के खिलाफ की थी नारेबाजी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बच्चों से अपशब्द बुलवाने के आरोप में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने प्रियंका गांधी को नोटिस जारी किया है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने प्रियंका को नोटिस जारी करते हुए तीन दिन के अंदर जवाब मांगा है। प्रियंका पर चुनाव प्रचार के दौरान बच्चों का इस्तेमाल करने का आरोप है। बीजेपी का आरोप है, प्रियंका ने पीएम मोदी के खिलाफ अपशब्द बुलवाए।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने प्रियंका गांधी को चुनाव प्रचार में कथित तौर पर बच्चों के उपयोग के मामले में नोटिस जारी किया है। आयोग ने कहा, यह शिकायत उस वीडियो को लेकर है जिसमें बच्चे प्रियंका गांधी के समक्ष अभद्र भाषा का प्रयोग करते दिख रहे हैं।

आयोग ने अपने नोटिस में चुनाव प्रचार में बच्चों के प्रयोग को लेकर आपत्ति प्रकट की है। यह भी उल्लेख किया गया है कि बांबे हाईकोर्ट के 4 अगस्त, 2014 को दिये आदेश में कहा गया है कि बच्चों को चुनाव प्रचार में शामिल नहीं किया जाना चाहिए। आयोग ने प्रियंका गांधी को तीन दिन के भीतर ब्यौरा उपलब्ध कराने को कहा है। उनसे उन बच्चों के नाम, पते की जानकारी के साथ यह भी पूछा गया है कि नारेबाजी किस जगह हुई थी और वहां पर बच्चे कैसे पहुंचे।

दरअसल कुछ दिन पहले अमेठी में चुनाव प्रचार करने पहुंचीं कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था, जिसमें वह कुछ बच्चों के साथ दिख रही थीं। बच्चे उनके सामने चुनावी नारा लगा रहे थे जिसमें उन्होंने 'चौकीदार चोर है' के नारे लगाए। हालांकि जब बच्चों ने पीएम के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया तो प्रियंका ने उन्हें ऐसा न करने के लिए कहा। 

वहीं केंद्रीय मंत्री और अमेठी से उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने इस वीडियो पर आपत्ति जताते हुए एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने वीडियो को साझा करते हुए लिखा, सोचिए एक प्रधानमंत्री को कितना कुछ सहना पड़ता है। क्या इससे लुटियंस में गुस्सा दिखाई दिया? स्मृति ईरानी ने कहा, प्रियंका गांधी के सामने कुछ बच्चे 'चौकीदार चोर है' का नारा लगा रहे थे, इसी बीच बच्चों ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का भी प्रयोग किया। इस पर स्मृति ईरानी ने सवाल खड़े किए थे।

स्मृति ईरानी ने कहा था, प्रियंका बच्चों को पीएम मोदी के खिलाफ अपशब्द बोलने को कहती हैं। आप बच्चों का इस्तेमाल राजनीतिक प्रचार के लिए नहीं कर सकते हैं। इससे बच्चे क्या सीखेंगे। मैं सभी सभ्य परिवारों से कहूंगी कि वे अपने बच्चों को प्रियंका गांधी से दूर रखें।

हालांकि, स्मृति ईरानी के इस आरोप पर प्रियंका ने सफाई दी थी। उन्होंने कहा था, मैंने बच्चों को नारे लगाने से मना किया क्योंकि मेरे ख्याल से प्रधानमंत्री के लिए ये सही नहीं है। बीजेपी ने टेप बदल दिया और मेरी रोकने वाली बात को हटा दिया। अब वे लोग आरोप लगा रहे हैं, ये उनकी आदत है। वे सच को तोड़ मरोड़ रहे हैं और मेरा काम सच बोलना है।