comScore

निर्भया केस: गैंगरेप के दोषियों को पहले कई बार मिल चुकी सजा, जेल में ऐसे कमाएं लाखों रूपये


हाईलाइट

  • अक्षय ठाकुर ने मजदूरी कर 69 हजार रुपए कमाए
  • विनय शर्मा को 11 बार जेल के नियम तोड़ने पर सजा दी गई

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी मुकर्रर की गई है... जैसे-जैसे उनकी सजा का समय नजदीक आते जा रहा है। चारों को लेकर कई चीजें सामने आ रही है। फांसी की सजा पाए चारों गुनहगार गैंगरेप जैसे घिनौना कृत्य करने की वजह से दंडित हुए हैं। फांसी की सजा से पहले भी इन्हें जेल में कई बार सजा मिल चुकी हैं। जिनमें सबसे कम अक्षय एक बार, मुकेश तीन बात, पवन आठ बार और सबसे ज्यादा विनय 11 बार जेल प्रशासन ने गलत व्यवहार के कारण दंड दिया है। 

वहीं दोषी मुकेश ने जेल में कोई काम नहीं किया है। अक्षय, पवन और विनय ने जेल में कार्य किया। जेल प्रशासन ने उन्हें मेहनताना भी दिया है। सबसे ज्यादा अक्षय ने 69 हजार रुपए कमाए हैं। जबकि पवन 29 हजार और विनय ने 39 हजार रुपए मजदूरी कर कमाए। कैदियों की कमाई को जिस खाते में रखा जाता है उसे कैदी कल्याण खाता कहा जाता है। खाते में जमा रुपयों का तीनों क्या करेंगे,इस को लेकर जेल प्रशासन से कुछ नहीं कहा है। 

जेल सूत्रों के अनुसार ये जिस व्यक्ति के खाते में रुपए जमा करने को कहेंगे, उसके अकाउंट में पैसा जमा कर दिए जाएंगे। चाहें तो पैसे खुद पर भी खर्च कर सकते हैं। अगर तीनों ने कुछ नहीं कहा तो फांसी के बाद पैसों पर इनके परिजनों का हक होगा। सूत्रों के मुताबिक मुकेश, पवन और अक्षय ने ओपन स्कूल से दसवीं कक्षा में एडमिशन लिया था, लेकिन फेल हो गए। वहीं विनय ने बीए में दाखिला लिया था,जिसे पूरा नहीं कर पाया। चारों को फांसी पवन जल्लाद देगा, जो 20 जनवरी को दिल्ली पहुंचेगा। एक दोषी को फांसी देने पर जल्लाद को 15 हजार रुपए मिलेंगे। 
 

कमेंट करें
KW2S5