दैनिक भास्कर हिंदी: पाकिस्तानी उच्चायोग से 23 सिखों के पासपोर्ट गायब, भारत सरकार करेगी रद्द

December 15th, 2018

हाईलाइट

  • विदेश मंत्रालय ने लिया मामले पर संज्ञान
  • पाक ने 3800 तीर्थयात्रियों को जारी किया था वीजा
  • पासपोर्ट का गलत इस्तेमाल रोकने सख्त कदम उठाएगा भारत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पाकिस्तानी उच्चायोग से 23 भारतीय सिखों के पासपोर्ट गायब होने की जानकारी सामने आई है। ये पासपोर्ट उन सिखों के हैं, जो तीर्थयात्रा के लिए पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारों में जाने वाले थे। इन तीर्थ स्थानों में करतारपुर साहिब भी शामिल है, जिसके गलियारे का शिलन्यास कुछ समय पहले ही भारत और पाकिस्तान ने किया है। 


विदेश मंत्रालय ने मामले पर संज्ञान लिया है। विभाग सभी पासपोर्ट को रद्द करने की तैयारी भी कर रहा है। पासपोर्ट गायब होने के बाद कई लोगों ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई है। भारत इस मामले को पाकिस्तान उच्चायोग के सामने भी पेश करेगा। दरअसल, भारत के 3800 सिख तीर्थयात्रियों को 21 से 30 नवंबर के बीच पाकिस्तान ने वीजा जारी किया था। ये वीजा गुरु नानक की 549वीं जयंती पर जारी किया गया था। 

 
पुलिस में पासपोर्ट गायब होने की शिकायत करने वाले 23 यात्री, उन 3800 यात्रियों में ही शामिल हैं, जिन्हें पाकिस्तान ने वीजा जारी किया था। गायब हुए पासपोर्ट दिल्ली के एक एजेंट ने लिए थे। उसका दावा है कि उसने पाकिस्तान के उच्चायोग में दस्तावेजों को जमा किया था, हालांकि पाकिस्तान ने इस घटना में अपने किसी भी अधिकारी के शामिल होने से इनकार किया है। 


भारतीय अथॉरिटी को शिकायत करते हुए एजेंट ने बताया कि पासपोर्ट जमा कराने के बाद जब वो उसे लेने गया तो पाकिस्तानी उच्चायोग ने पासपोर्ट होने की बात से ही इनकार कर दिया। विदेश मंत्रालय ने इसे गंभीर मुद्दा माना है। मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि पासपोर्ट का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे। 

खबरें और भी हैं...