comScore

हरियाणा में बोले PM मोदी- कांग्रेस को ऐसी बीमारी हुई है जिसका इलाज मुश्किल है

हरियाणा में बोले PM मोदी- कांग्रेस को ऐसी बीमारी हुई है जिसका इलाज मुश्किल है

हाईलाइट

  • पीएम मोदी की हरियाणा में दो रैली आज
  • सोनीपत और हिसार में करेंगे जनसभा को संबोधित

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए आज (शुक्रवार) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गोहाना पहुंचे पीएम मोदी ने यहां जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा है। पीएम मोदी ने कहा, आपको याद है ना क्या हुआ था 5 अगस्त को ? 5 अगस्त को वो हुआ, जिसकी देश ने एक तरह से उम्मीद ही छोड़ दी थी।5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में भारत का पूरा संविधान लागू हुआ। 70 साल से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास में जो सबसे बड़ी रुकावट थी, वो हमने 5 हटा दी। 5 अगस्त से कांग्रेस और उनकी साथ मिलीभगत वालों के पेट में ऐसा दर्द उठा है, जिसपर कोई दवा काम नहीं कर पा रही। पेट में दर्द, कांग्रेस की लाइलाज बीमारी बन गया है। कांग्रेस को ऐसी बीमारी हुई है कि हम स्वच्छ भारत की बात करते हैं तो कांग्रेस के पेट में मरोड़ होने लगती है।

पीएम मोदी ने कहा, सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते हैं तो कांग्रेस के पेट का दर्द बढ़ जाता है। कोई बालाकोट का नाम लेता है तो कांग्रेस दर्द के मारे छटपटाने लगती है।अब तो देश भी यह जान गया है कि कांग्रेस को ये दर्द होता क्यों है ? किसकी हमदर्दी किसके लिए है।आपने देखा होगा कि कांग्रेस के नेताओं के कश्मीर पर जो बयान आए वो किसके काम आ रहे हैं, उसका लाभ कौन उठा रहा है, कहां-कहां उसका इस्तेमाल किया जा रहा है। पाकिस्तान के साथ कांग्रेस की कौन सी केमिस्ट्री है? ये किसके लिए है? इस चुनाव में आपको इसका जवाब ढूंढना ही होगा।

पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस को हरियाणा के उन वीर सपूतों की भावनाओं से बिल्कुल फर्क नहीं पड़ता, जो जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की सुरक्षा के लिए वहां डटे हुए हैं।कांग्रेस ने मोदी को जितना भला-बुरा कहना है, कहे, लेकिन भारत मां का तो गौरव करें।सीमाएं इतनी भी न लाघें कि जो देश का नुकसान हो। 370 को हटाने की सबसे बड़ी विरोधी रही कांग्रेस अब हरियाणा को संभालने के लिए कोशिश कर रही है। कांग्रेस को हरियाणा की उन माताओं की, उन बेटियों की संवेदना का बिल्कुल ख्याल नहीं है, जिन्होंने अपने सपूतों को, अपने सुहाग को, अपने पिता को मां भारती के लिए शहीद होते हुए देखा है।

पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस को उन दलितों, पिछड़ों की संवेदनाओं की भी चिंता नहीं है, जिनको आजादी के सात दशक तक जम्मू-कश्मीर में उनके जायज अधिकार से वंचित रखा गया।कांग्रेस को ना तो भारत की एकता की चिंता है और न ही बाबा साहेब आंबेडकर के दिए हुए संविधान की। जिनको मां भारती की चिंता नहीं है, जिन्हें माटी की चिंता नहीं है, उनकी चिंता हरियाणा कर सकता है क्या? इस चुनाव में ऐसे लोगों को चुन-चुक कर बाहर कर दीजिए। उन्हें कहिए कि अब बहुत हो गया।

पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस के कुशासन में ना तो जवान सुरक्षित था, ना हरियाणा के किसान और न ही खिलाड़ियों का हित। किसान के खेत पर इन्होंने भ्रष्टाचार की फसल उगाई और खेल में इन्होंने घोटालों की उपज काटी।5 साल पहले भारत के खेलों से घोटाले-भ्रष्टाचार की खबरें आती थीं, खेल की चर्चा ही नहीं होती थी। बीते 5 साल में खेल के मैदान से आ रही गौरव और सम्मान खबरें देश की युवा शक्ति को प्रेरणा दे रही है। पीएम किसान सम्मान निधि से हरियाणा के लाखों किसान परिवारों को सीधी आर्थिक मदद बैंक खाते में पहुंच रही है। इतना ही नहीं, जो छोटे और मझोले किसान परिवार हैं, जो खेतों में मजदूरी करते हैं, उनके लिए मासिक पेंशन योजना भी शुरू हो चुकी है।

पीएम मोदी ने कहा, हम भारत को आर्थिक शक्ति के साथ-साथ खेल के मैदान में भी आगे बढ़ाना चाहते हैं। युवाओं को उनका पूरा हक मिले इसके लिए हम पूरे प्रयास कर रहे हैं।अपने खिलाड़ियों को हम राजनीति और राष्ट्रनीति में ज्यादा से ज्यादा भागीदार बना रहे हैं।गन्नौर में रेल कोच फैक्ट्री के काम का शुभारंभ करने का मुझे अवसर मिला था। ये फैक्ट्री ऐसे समय में बनी जब देश में रेलवे का अभूतपूर्व विस्तार हो रहा है।आधुनिक और तेज रफ्तार ट्रेन टैक पर उतारी जा रही है और भारत विदेशों को भी अब ट्रेन कोच निर्यात कर रहा है।

पीएम मोदी ने कहा, उद्योग हो, रोज़गार निर्माण हो, इसका सीधा संबंध इंफ्रास्ट्रक्चर है। हरियाणा में आज अगर उद्योगों का दायरा बढ़ रहा है, तो इसका कारण है यहां के इंफ्रास्ट्रक्चर में हो रहा सुधार।बीते पांच वर्षों में यहां आठ नेशनल हाईवे का निर्माण हुआ है।मैं हरियाणा में जहां भी जाता हूं, एक बात विरोधियों के मुंह से भी अक्सर सुनता हूं।वो कहते हैं कि खर्ची और पर्ची के कांग्रेसी कल्चर हरियाणा से विदा हो चुका है।यही तो सुशासन है, यही तो लोकतंत्र है।भाजपा सरकार के बीते पांच वर्षों का कार्यकाल सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास का रहा है।यही हरियाणा की भावना है, यही सोनीपथ की सोच है, और यही दीनबंधु सर छोटूराम का भी सपना था।

पीएम मोदी ने कहा, मैं लोकसभा के चुनाव में आपका आशीर्वाद लेने यहां नहीं पहुंच पाया था। लेकिन आपने न गिला किया, न शिकवा किया। पूरी ताकत से हमारा साथ दिया। तब से मेरा मन था कि एक बार आपके सामने जाकर आपको नमन करूं। आज से सौभाग्य मुझे मिला है। जनता जर्नादन तो ईश्वर का रूप होती है। लेकिन जो जनता जर्नादन को ईश्वर न मानते हुए खुद को ही शहंशाह मानने लग जाते हैं, अहंकार में सातवे आसमान में पहुंच जाते हैं तो उनका वही हाल होता है जो हरियाणा की जनता ने लोकसभा चुनाव में करके दिखाया है। जिन्होंने हरियाणा की शांत, समर्थ और संकल्पशील बिरादरी में बंटवारे का जहर घोलने का प्रयास किया, उनको आपने सबक सिखा दिया।लोकतंत्र में जनता ही सर्वोपरि है, उसकी इच्छा ही सबसे ऊपर होती है। सोनीपत का मतलब ही है किसान, जवान और पहलवान। सोनीपत की इस त्रिशक्ति को मजबूत करने के लिए भाजपा सरकार ने भरपूर कोशिश की है। अगले पांच साल में इसी त्रिशक्ति के आधार पर हमने सशक्त हरियाणा, सशक्त भारत बनाने का फैसला किया है।

हरियाणा के बाद महाराष्ट्र में एक रैली
पीएम मोदी हरियाणा में दो रैलियों को संबोधित करने के बाद महाराष्ट्र जाएंगे। शाम को मोदी मुंबई के बीकेसी ग्राउंड में जनसभा करेंगे। जिसमें भाजपा के कई दिग्गज नेताओं के साथ शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाके भी मौजूद रहेंगे।

राजनाथ सिंह की तीन रैलियां
वहीं रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी शुक्रवार को हरियाणा में जनसभा को संबोधित करेंगे। रक्षामंत्री बेरी(झज्जर),प्रृथ्ला(फरीदाबाद) और मालती वाटिका मोहम्मद अहीर रोड तावडू (गुरुग्राम) में जनता को संबोधित करेंगे। 

अमित शाह महाराष्ट्र में संभालेंगे कमान
गृहमंत्री अमित शाह आज महाराष्ट्र में चार जनसभा को संबोधित करेंगे। शाह अहेरी, राजौरा, वनी और खापरखेडा में जनसभा को संबोधित करेंगे। 

कमेंट करें
Y87TV
NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।