दैनिक भास्कर हिंदी: RBI गवर्नर के इस्तीफे पर घिरी मोदी सरकार, विपक्षी नेताओं ने दागे सवाल

December 10th, 2018

हाईलाइट

  • RBI गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।
  • कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा है कि उर्जित पटेल को जबरन इस्तीफा दिलवाया गया है।
  • ममता बनर्जी ने कहा है कि देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी लग चुकी है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद विपक्षी दलों के नेताओं ने केंद्र सरकार पर आक्रामक रवैया अपना लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि CBI, RBI, इलेक्शन कमीशन और संविधान पर बीजेपी सरकार के हमले को रोकना होगा। वहीं, कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उर्जित पटेल को जबरन इस्तीफा दिलवाया गया है। उधर, पश्चिम बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने कहा है कि देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी लग चुकी है। 

देश के संवैधानिक संस्थान खतरे में- राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, 'सभी विपक्षी पार्टी के नेताओं के बीच चल रही बैठक के बीच में हमें बताया गया कि RBI चीफ ने इस्तीफा दे दिया। वह अब सरकार के साथ काम नहीं कर पा रहे थे। हम सभी विपक्षी पार्टी के नेताओं ने मीटिंग में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया है कि हमें हमारे देश के सभी संवैधानिक संस्थानों को बीजेपी के आक्रमण से रोकना होगा। हमें CBI, RBI, इलेक्शन कमीशन और संविधान को बीजेपी के हमले से बचाना होगा। RBI गवर्नर ने इस्तीफा इसलिए दिया क्योंकि वह संस्थान को बचाना चाहते थे। RBI से अपने निजी वजहों से अतिरिक्त रुपए लेना इस देश के खिलाफ है। मुझे खुशी और गर्व है कि लोग इसके विरोध में सामने आ रहे हैं।'

गवर्नर को पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया - अहमद पटेल

कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा, 'जिस तरह से भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर को अपना पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया है, यह भारत की मौद्रिक और बैंकिंग प्रणाली के लिए बहुत बुरा है। बीजेपी सरकार ने इस देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी जैसी स्थिति पैदा कर दी है। देश की प्रतिष्ठा और विश्वसनीयता अब दांव पर लग गई है।'

उर्जित पटेल को वापस बुलाना चाहिए- सुब्रमण्यम स्वामी

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, 'उर्जित पटेल का इस्तीफा इस देश की इकोनॉमी, RBI और सरकार के लिए बुरा है। उन्हें कम से कम जुलाई में अगली सरकार बनने तक रहना चाहिए था। प्रधानमंत्री को फौरन उन्हें फोन करना चाहिए और कारण पता लगाना चाहिए। इतना ही नहीं पीएम को उन्हें लोगों के हित के लिए पद छोड़ने से रोकना चाहिए।'

उर्जित पटेल का निर्णय भारत के लिए चिंता का विषय- रघुराम राजन
भारतीय रीजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भी इसे देश के हित के लिए काफी बुरा बताया है। राजन ने कहा, 'पटेल के इस निर्णय से सभी भारतीयों को चिंतित होना चाहिए। डॉ पटेल ने यह निर्णय क्यों लिया इसके बारे में पता लगाना चाहिए। हमें उनके निर्णय का सम्मान करना चाहिए।' वहीं RBI बोर्ड के मेंबर एस गुरुमुर्ती ने उर्जित पटेल के निर्णय को चौंकाने वाला बताया है। गुरुमुर्ती ने कहा, 'मैं RBI गवर्नर के निर्णय से चकित हूं। हमारी पिछली मीटिंग काफी अच्छी रही थी। हम सभी ने यह बात की थी कि मीडिया ने विवाद को लेकर गलत खबर बनायी है। ऐसे में उनका यह निर्णय और भी चौंकाने वाला है।' 

देश में लागु हो चुकी है फाइनेंशियल इमरजेंसी- ममता बनर्जी
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC चीफ ममता बनर्जी ने RBI गवर्नर के इस्तीफे पर कहा, 'हम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलेंगे। इस देश की वित्तीय स्थिति डावाडोल हो चुकी है, क्योंकि RBI चीफ ने खुद इस्तीफा दे दिया है। देश के लिए यह बहुत चिंता का विषय है, क्योंकि देश में फाइनेंशियल इमरजेंसी लग चुकी है।'

पीएम मोदी, वित्त मंत्री जेटली ने की उर्जित की तारीफ

पीएम मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उर्जित पटेल के इस्तीफे के ऐलान के बाद उनके अब तक के काम की सराहना की है। पीएम ने कहा, डॉ उर्जित पटेल मैक्रो-इकोनॉमिक मुद्दों की गहरी समझ और उच्च क्षमता वाले अर्थशास्त्री हैं। उन्होंने RBI का संचालन बेहद सूझबूझ के साथ किया। वह अपने पीछे एक महान विरासत छोड़ गए हैं। हम उन्हें बहुत मिस करेंगे। वहीं जेटली ने कहा कि डॉ पटेल ने अपने निजी कारणों से इस्तीफा दिया है और मैं डॉ पटेल को आगे की भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं।